Header Ads

भाजपा कार्यकर्ता अपनी ही सरकार मे प्रताड़ित

फर्रुखाबाद
डॉ महेंद्र गुप्ता वरिष्ठ भाजपा कार्यकर्ता योगी सरकार में प्रताड़ित
कोतवाली कायमगंज के चिलौली में खैरे देवी हाथी मंदिर को लेकर आये दिन खबरें देखने और सुनने को मिल रही हैं। पहले भी इस मंदिर पर 2016 में कब्जे को लेकर मामला एकबार गर्माया था। जिसको लेकर न्यायालय में कई मामले चल भी रहे हैं।आइये जानते हैं आखिर मामला क्या और इसकी हकीकत क्या है।
कायमगंज नगर के  ग्राम  चिलौली में प्रसिद्ध खेरे वाली देवी हाथी वाली  देवी मंदिर पर ढोंगी बाबा और  साध्वी   को विगत 25 जुलाई की रात 11:00 बजे एसओजी टीम ने  मुखबिर व सर्विलांस के जरिए स्थानीय पुलिस के सहयोग से दबोच कर मंदिर पर रह रहे बाबाओं से भारी मात्रा में मादक पदार्थ बरामद किया और  ढोंगी रूप धरे हुए गोविंद स्वरूप श्याम स्वरूप मोनी बाबा को इस जुर्म में गिरफ्तार किया गया मंदिर पर लगभग 7 वर्षों से कब्जा जमाए इन बाबा लोगों के बारे में किसी को यह नहीं मालूम है कि इनका मूल निवास क्या है यह कहां के रहने वाले हैं इनका पिछला रिकॉर्ड क्या है इन लोगों ने मंदिर के नाम से ही फर्जी आधार कार्ड पहचान पत्र राशन कार्ड बनवा रखे हैं इन लोगों ने मंदिर को अय्याशी का अड्डा बना रखा था मंदिर पर ही यह लोग कई महिलाओं का शोषण करते थे और मंदिर पर नशीले पदार्थ का कारोबार किया जाता था। फतेहगढ़ एसओजी टीम प्रभारी कुलदीप दीक्षित को लगभग 1 माह पूर्व मुखबिर द्वारा सूचना दी गई थी कि बाबाओं द्वारा लगभग एक करोड़ से ऊपर की हीरोइन का सौदा दलाल के मार्फत किया जा रहा है जिससे कि एसओजी प्रभारी ने इन बाबाओं और मंदिर पर रह रहे लोगों का मोबाइल सर्विलांस पर लगा दिया मुखबिर और सर्विलांस के जरिए एसओजी टीम ने देर रात 11:00 बजे 25 जुलाई को छापा मारा जिससे यह सभी लोग मादक पदार्थ सहित गिरफ्तार किए गए लेकिन मात्र एक बाबा जो कि अपना नाम बदलकर मंदिर पर रह रहा था श्याम स्वरूप उर्फ विनोद कुमार जाटव उसको गिरफ्तार कर चालान कर जेल भेज दिया गया बाकी बाबा और  साध्वी को राजनीतिक दबाव के कारण छोड़ दिया गया। इन लोगों ने मंदिर पर कब्जा करने की नियत से कानपुर के उप निबंधक कार्यालय में भी बाबाओं के नाम से रजिस्ट्रेशन कराने की कोशिश की और न्यायालय फतेहगढ़ में मंदिर का मालिकाना हक अखंड भारती के नाम करने का एक मुकदमा भी डाल दिया मंदिर की करोड़ों की भूमि पर गंदी नियत से ढोंगी साधु और  साध्वी कब्जा करने की कोशिश में थे तब तक पुलिस ने काम तमाम् कर दिया।
ढोंगी बाबाओ के नाम इस प्रकार है,,,
1- श्याम स्वरूप उर्फ विनोद कुमार जाटव निवासी हाथरस 2- गोविंद स्वरूप जाटव निवासी हरदोई
3- अखंड भारती और गुड़िया जाटव निवासी सोना जानकीपुर हाल निवासी प्रीतम नगला फर्रुखाबाद की निवासी है।मंदिर परिसर में हो रहे गलत कामों में जब यह लोग पकड़े जाते हैं तो यह सभी डॉक्टर महेंद्र गुप्ता के ऊपर आरोप लगा देते हैं कि यह सब डॉ गुप्ता द्वारा कराया जा रहा है।बाबा के  सहयोगिओ द्वारा डॉ महेंद्र गुप्ता को बेबजह रोज जान से मारने की धमकी दी जा रही है डर की वजह से उनके बच्चों ने स्कूल जाना बंद कर दिया है और उन समाजसेवी डॉ को फर्जी बताया जा रहा है इस संबंध में इन बाबा और साथियों द्वारा मुख्यमंत्री स्वास्थ्य मंत्री मुख्य चिकित्सा अधिकारी फर्रुखाबाद वाहन कई विभागों में गलत सूचनाएं देकर उनको भ्रमित किया गया जिसकी शासन द्वारा जांच भी भेजी गई लेकिन डॉ महेंद्र गुप्ता को निर्दोष करार दिया गया जब से यह लोग मादक पदार्थ में गिरफ्तार किए गए हैं तब से हर  हर रोज समाजसेवी को प्रताड़ित किया जा रहा है।

खास बातचीत

मेरे द्वारा डॉ महेंद्र गुप्ता से बातचीत करने से हकीकत का पता चला कि जनपद फर्रुखाबाद के प्रमुख समाजसेवी वरिष्ठ भाजपा कार्यकर्ता योगी सेना के प्रदेश महामंत्री डॉ महेंद्र गुप्ता को बाबा और उनके सहयोगियों द्वारा जान से मारने की धमकी और झूठे मुकदमा में फंसाने की धमकियां दी जा रही है। डॉ महेंद्र गुप्ता से बातचीत से पता चला कि इन्होंने समाज मे बहुत अच्छे काम किये हैं समाज हित के लिए हमेशा आगे रहे हैं। इन्होंने गरीब कन्याओं के विवाह में आर्थिक सहयोग कर उनकी  शादियों को संपन्न कराया , गर्मियों में  कायमगंज में कई जगह निशुल्क वाटर कूलर भी लगवाए कई विकलांगों को निशुल्क उपकरण दिए सर्दियों में गरीबों को कंबल बांटना इनकी आदत में शुमार है जिला जेल में अंधेपन से जूझ रहे लगभग 35 कैदियों को उन्होंने अपने स्वयं के व्यय लगभग डेढ़ लाख रुपए के लेंस देकर उनको नेत्र ज्योति प्रदान की एवं जिला जेल के अधीक्षक विजय विक्रम सिंह के  निवेदन पर उन्होंने जिला जेल में एक निशुल्क अस्पताल की भी स्थापना की जिसका उद्घाटन माननीय राज्य मंत्री अर्चना पांडे जी द्वारा किया गया फ्री में नेत्र परिक्षण शिविर  लगवाएं व कई मंदिरों का निमार्ण कराकर समाज को सौंपे हैं। ऐसे बहुत से समाज के हित के काम किये हैं।
डॉ महेंद्र गुप्ता जी को मुख्यमंत्री व  राज्यपाल उत्तर प्रदेश सरकार के कई मंत्रियों व विधायकों एवं प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा अच्छे कामो के लिए सम्मानित भी किया जा चुका है। कई बार फर्रुखाबाद के DM ,CMO आदि आला अधिकारियों से सम्मान मिला हुआ है।डॉ गुप्ता  सर्व समाज का हमेशा भला चाहने बाले व्यक्ति हैं मंदिर की जगह की गंदी नियत न उनकी थी और न ही है। इन सारी समस्याओं से जूझते हुए डॉ गुप्ता भारी डिप्रेशन बीमारी से ग्रसित हो चुके हैं और उनका खुद का इलाज भी चल रहा है।डॉ गुप्ता ने एफिडेविट में साफ लिखकर बोला है कि मुझे मंदिर अथबा उसकी जगह से किसी भी प्रकार का कोई लेना देना नही है। प्रशासन स्वयं के विवेक पर यह निर्णय ले कि क्या सही है क्या गलत इस प्रकरण में अगर डॉक्टर महेंद्र को दोषी पाया जाए तो उनकी सारी जायदाद को प्रशासन नीलाम कर मंदिर के नाम या धर्मार्थ किसी अस्पताल के नाम कर दे। अगर मंदिर पर रह रहे बाबा और साध्वी निर्दोष हैं तो वह यही चाहते हैं कि उनको दोषमुक्त कर दिया जाए एवं मंदिर की जगह बाबा और साध्वी के नाम कर दी जाए लेकिन बेवजह से इस प्रकरण में मेरा नाम ना घसीटा जाए  ब कोई भी अवैध रूप से यह कहने का अधिकारी नहीं है कि डॉ गुप्ता अपने नाम के आगे गलत तरीके से डॉक्टर लगाते हैं फर्जी अस्पताल चला रहे हैं उन्होंने बताया कि उन्होंने पीएचडी केमेस्ट्री से आगरा विश्वविद्यालय से किया हुआ है एवं आप्थाल्मालॉजिस्ट का कोर्स डॉ राजेंद्र प्रसाद इंस्टीट्यूट आफ आप्थाल्मालॉजी सर्वोदय नगर कानपुर एवं डॉ जवाहरलाल  रोहतगी नेत्र चिकित्सालय कानपुर से किया हुआ है जिसको इसकी जांच करनी है वह कानपुर जाकर के इंस्टीट्यूट में जानकारी कर ले अगर मुझे गलत तरीके से किसी के द्वारा प्रताड़ित किया गया तो मैं न्यायालय की शरण में जाकर उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने पर मजबूर हो जाऊंगा और अगर मुझे कुछ होता है तो उसका सारा जिम्मेवार मैं मेरे ऊपर गलत आरोप लगाने  वाले ही होंगे इस मंदिर प्रकरण से मेरा  कोई वास्ता नहीं है इस संबंध में डॉ महेंद्र गुप्ता द्वारा एफिडेविट DM, SP फर्रुखाबाद SDM कायमगंज आदि आला अधिकारियों को दे दिया है।

इस मामले की कई बार जांच होने के बाद डॉक्टर महेंद्र गुप्ता निर्दोष पाए जा चुके है।

रिपोर्ट:अनिल कुमार (ब्यूरो चीफ)

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.