Header Ads

क्राइम ब्रांच DLF ने पुजारी ब्लाइंड मर्डर केस का किया खुलासा


फरीदाबाद
ब्यूरो रिपोर्ट

तीन आरोपियों को गिरफ्तार करने में मिली सफलता ।

अभी तक हत्यारों का कोई सुराग नही लगा था।
आपको बताते चलें कि 14 अक्टूबर 2018 को टाउन पार्क सेक्टर -12 फरीदाबाद के सामने ओजोन सेन्टर के पीछे खाली जगह पर पुजारी ओमप्रकाश की डेडबॉडी मिली थी ।
इस संदर्भ में थाना सेंट्रल में मुकदमा नंबर 1038 दिनांक 15 अक्टूबर 2018, धारा 302, 201 आईपीसी के तहत हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था ।
पुलिस कमिश्नर  व् DCP Crime के दिशा निर्देश पर कार्यवाही करते हुए क्राइम ब्रांच DLF प्रभारी नवीन कुमार व उनकी टीम के उप निरीक्षक जमील अहमद ,सहायक उप निरीक्षक अश्वनी कुमार , हवलदार आनन्द , हवलदार ईश्वर , हवलदार कृषण ,सिपाही   नसीब , सिपाही नितिन ने सराहनीय कार्य करते हुये ऑटो सहित तीन अपरापियो को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।जिनसे पुजारी ब्लाइंड मर्डर का खुलासा हुआ हैं।

पवन पुत्र चुन्नी लाल  निवासी सुनार वाला मोहल्ला, तिगांव फरीदाबाद ।
इरफ़ान पुत्र कासिम निवासी गर्ल स्कूल मोहल्ला , तिगांव फरीदाबाद ।
असलम उर्फ़ बलम पुत्र असरफ अली निवासी गर्ल स्कूल मोहल्ला , तिगांव फरीदाबाद ।
उपरोक्त तीनो आरोपियों को मुखबिर की सूचना पर आज दिनांक 03 नवम्बर 2018 को तिगांव रोड बाईपास से गिरफ्तार किया है ।
अपराध शाखा DLF प्रभारी नवीन कुमार ने बताया कि दिनांक 14.10.18 को मृतक अपने गाँव बलुआपुर UP से शाम को लगभग 06:30 बजे बस में बैठकर फरीदाबाद के लिए आ रहा था जो मृतक ओमप्रकाश की उसके बेटे गौतम से शाम को 08:23 पर बातचीत हुई कि मैं पलवल आ चूका हूँ बस सीधी फरीदाबाद जाएगी और मैं लगभग 09:30-10:00 बजे तक फरीदाबाद पहुच जाऊंगा लेकिन मृतक ओमप्रकाश अपने घर नही पहुंचा दिनांक 15.10.18 को सेक्टर – 12 में ओजोन सेन्टर के पीछे 1 अज्ञात डेड बॉडी मिली थी जिस पर चोट के निशान थे जिसकी शिनाख्त ओमप्रकाश पुजारी निवासी डबुआ फरीदाबाद के रूप में हुई थी ।
उपरोक्त केश में अभी तक आरोपियों के बारे कोई सुराग लग पाया था । अपराध शाखा DLF की टीम ने आरोपियों का सुराग लगाने के लिए दिन रात कड़ी मेहनत की | मृतक के गाँव बलुआ पुर जाकर भी पूछताछ की उस बस को खोजा गया जिस बस में ओमप्रकाश आया था | बस चालक ने बताया की हम फरीदाबाद में केवल बल्लभगढ़ बस अड्डा , बाटा चोक , ओल्ड चोक और बदर पुर बॉर्डर पर ही बस रोकते हैं |
 अपराध शाखा DLF ने वैज्ञानिक तरीको से मामले को सुलझाने की कोशिश की लेकिन सफलता नही मिली | उसके बाद रात के समय ऑटो चालको को आधार बनाकर इस मामले की गहनता से तफ्तीश की गई |
अलग अलग टीमें बनाकर रात के समय ऑटो चलाने वालो का रिकॉर्ड तैयार किया व उसके बाद जिन ऑटो चालको के खिलाफ पहले से मामले दर्ज थे उनसे इस मामले में पूछताछ की गई और आखिरकार कड़ी मेहनत के बाद पुजारी हत्याकांड का पर्दा फाश करने में सफलता मिल गई |
आरोपियों से गहनता से पूछताछ की जा रही है आरोपियों ने बताया की वह नशे के आदि हैं रात के समय जो अकेली सवारी मिलती है उसको ऑटो में बिठाकर उसके साथ मार पिटाई करके गमछे से बेहोश करके उसके पैसे व कीमती सामान लूट लेते हैं इस केश में भी पुजारी को बाटा चोक से ऑटो में बिठा लिया व गलत रूट पर नीलम फ्लाईओवर की तरफ ले गये एक आरोपी ऑटो चलाता रहा व दो आरोपी पुजारी को पिटते रहे |नीलम चोक से यू टर्न लेकर BPTP कट से होते हुए टाउन पार्क की तरफ ले गये उसको सर में नाक पर चोटे मारी व गमछे से गला दबाकर बेहोश कर दिया।  पूछताछ में खुलासा हुआ कि इस वारदात में पुजारी से आरोपियों को केवल 80 रूपए और 1 लावा का छोटा फ़ोन ही मिला उसके बाद आरोपी बाईपास के रास्ते से बल्लभगढ़ मुल्ला होटल पर पहुचे जहाँ उन्होंने खाना खाया था ।

आरोपियों से मौके पर लुटे हुए कई मोबाइल फ़ोन मिले हैं जिनकी जाँच की जा रही है प्रारम्भिक जाँच में यह पता चला है कि जो ऑटो वारदात में आरोपी प्रयोग करते हैं वह भी संजय कॉलोनी चोकी एरिया से 24-25 सितम्बर की रात को लूटा गया था | जिसका अभियोग दर्ज है इसी तरह आरोपियों के खिलाफ सेक्टर-7 थाने में एक सारन थाने में एक सिटी बल्लभगढ़ थाने एक सदर बल्लभगढ़ थाने में और दो मामले तिगांव थाने में दर्ज हैं | जिनमे से कई मामले अभी तक अन सुलझे थे |

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि तीनो आरोपियों को कल अदालत में पेश किया जाकर अदालत से  रिमांड माँगा जायेगा और अन्य मामलो के बारे गहनता से पूछताछ की जाएगी।
रिपोर्ट:एम पी सिंह (ब्यूरो चीफ)

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.