Header Ads

यूपी के एटा में राम भरोसे चल रही स्वास्थ्य सेवाएं,दर्द से कराहती महिला को अस्पताल से निकाला वाहर,पार्क में अचेत अवस्था मे पड़ी रही खून से लथपथ महिला,दो नवजात भाई-बहन को लेकर गोद मे रोता रहा 5 साल का मासूम

उत्तर प्रदेश के एटा में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की जीती जागती तस्वीरें देखकर आपके रोंगटे खड़े हो जायेंगे।
एटा। उत्तर प्रदेश के एटा में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की जीती जागती तस्वीरें देखकर आपके रोंगटे खड़े हो जायेंगे। प्रदेश की योगी सरकार द्वारा गर्भवती महिलाओं के सुरक्षित प्रसव के लाख दावों के बावजूद यहां प्रसूता महिलाओं की जिंदगी भगवान भरोसे ही है। एटा जिले के सरकारी महिला चिकित्सालय में एक महिला प्रसव के लिए भर्ती हुई और उसके दो बच्चे भी हुए, लेकिन प्रसव के तुरंत बाद महिला चिकित्सालय के डॉक्टरों ने प्रसूता और उसके नवजात दोनों बच्चों को जबरन हॉस्पिटल से भगा दिया। प्रसूता के साथ केवल उसका 5 साल का बच्चा था। प्रसूता गिड़गिड़ाती रही, लेकिन उसकी किसी ने न सुनी। उसको बाहर निकाल दिया गया।
सड़क पर कराहती रही मां
खून से लथपथ महिला किसी तरह अपने दोनों नवजात बच्चों के साथ स्थानीय मेहता पार्क में भगवान भरोसे आ कर लेट गई और जिंदगी और मौत से संघर्ष करने लगी। उसके खून बह रहा था और वो दर्द से कराह रही थी। इस बीच उसका 5 साल का बेटा शाहिद दोनों नवजात भाई बहनों को अपनी गोद मे लिए रोता रहा। कुछ लोगों ने पार्क में प्रसूता को पड़े देखा तो 108 एम्बुलेंस बुलाकर महिला को दोबारा अस्पताल में पहुंचाया। जहां बड़े अधिकारियों के कहने पर जच्चा और बच्चा दोनों को पुनः भर्ती कर दोबारा इलाज शुरू किया गया। प्रसूता का खून अत्यधिक बह जाने के कारण उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।
आगरा किया गया रैफर
प्रसूता की हालत बिगड़ती देख उसको महिला चिकित्सालय में एक यूनिट खून चढ़ाने के बाद आनन फानन में देर रात आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया गया है, जहां वो अभी भी जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रही है। इस मामले में सीएमओ ने बताया कि पूरे मामले की गहन जांच जा रही है। जांच के बाद जो भी इसमें दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाएगी। जिला अधिकारी आईपी पांडेय ने बताया कि मामले को काफी गंभीरता से लिया गया है। जांच समिति का गठन किया गया है। रिपोर्ट आ जाने के बाद दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जायेगी। इस मामले को लेकर एटा के स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप की स्थिति है।
रिपोर्ट आकाश शुक्ला/अनुज प्रताप सिंह

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.