Header Ads

साहित्य सेवा के लिए यश भारती से सम्मानित डॉ राम सिंह नही रहे,साहित्य जगत में शोक की लहर,

देश के श्रेष्ठ साहियकारो में शुमार,विख्यात लेखक,चिंतक,शिक्षक डॉ0 राम सिंह यादव का आज शुवह 4 बजे के लगभग उनके एटा के सुनहरी नगर स्थित आवास में 84 साल की उम्र में निधन हो गया। उनको सांस की तकलीफ थी और लंबे अरसे से इलाज चल रहा था।
एटा जिले के जलेसर तहसील के नगला झड़ू(पांडव नगर)के मूल निवासी डॉ राम सिंह ने एक शिक्षक के  रूप में अपना कैरियर शुरू किया। साथ साथ साहित्य साधना में भी लगे रहे। उन्होंने दिव्यात्मा,जाहरपीर,रिटायरमेन्ट के बाद सुखी जीवन,श्याम तेरी वंशी बजे धीरे धीरे,ताज महल(हिंदी अंग्रेजी)चंद्र शेखर आजाद,मुलायम सिंह की बायोग्राफी,अमीर खुशरो हिंदवी,ब्रज के लोक गीतो का यौन विश्लेषण,नही कठिन है डगर पनघट की के अतिरिक्त अनेको पुस्तके लिखी है। इनकी लिखी पुस्तके वर्तमान में एटा में चल रहे तीन दिवसीय पुस्तक मेले में पाठकों के बीच काफी लोक प्रिय हो रही है। दो दिन पूर्व ही डॉ राम सिंह ने ही एटा जी आई सी मैदान में चल रहे एटा पुस्तक मेले का उद्घाटन किया था!
डॉ राम सिंह के चार बेटे है ।सबसे बड़े मेजर संजय यादव उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग इलाहाबाद में सदस्य है। दूसरे नंबर के अजय चौधरी IPS दिल्ली पुलिस में जॉइंट कमिश्नर है। तीसरे नंबर के अंशुमान यादव IPS मध्य प्रदेश पुलिस के रीवा में आई जी के पद पर हैं। चौथे नंबर के सबसे छोटे डॉ समीर कृष्ण लेक्चरर है।
डॉ राम सिंह अभी भी साहित्य सेवा में लगे थे और कई पुस्तको पर काम कर रहे थे। डॉ राम सिंह को उनकी साहित्य सेवा के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने यश भर्ती सम्मान से नवाजा था। वे प्रदेश सरकार में उत्तर प्रदेश खनिज विकास निगम के डायरेक्टर भी रहे । वर्तमान में वे व्रज संवर्धन विकास बोर्ड के सदश्य भी थे।वे अमीर खुसरो संस्थान दिल्ली के अध्यक्ष भी थे।ये संस्था सूफी गीत संगीत के प्रचार प्रसार के लिए पूरी दुनिया मे काम करती है। डॉ राम सिंह के निधन से देश के साहित्य जगत की अपूर्णनीय छति हुई है जिसकी भरपाई नही की जा सकती।


No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.