Header Ads

एटा मे 'सिंघम' ने 8 लाख की अवैध शराब सहित 3 तस्कर किए गिरफ्तार,माफियाओं में हड़कम्प,अवैध शराब की 80 पेटी सहित असलाह,कारतूस बरामद

एटा-एसएसपी के निर्देशन में 'सिंघम' ने 48 घंटे के भीतर शराब तस्करों पर फिर बड़ी कार्यवाही की है। 8 लाख की अवैध शराब सहित 3 तस्करों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से केंटर में भरी 80 पेटी अवैध शराब सहित असलाह व कारतूस बरामद हुए हैं। तस्कर दूसरे राज्यों में अवैध शराब की सप्लाई करते थे। 'सिंघम' इससे पूर्व 10 लाख की अवैध शराब सहित एक तस्कर को गिरफ्तार कर जेल भेज चुके हैं। जिससे शराब माफियाओं में हड़कम्प मच गया है। एसएसपी ने टीम को 5 हजार का इनाम देने की घोषणा की है।
    वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार चौरसिया के निर्देशन में शुक्रवार की रात 'सिंघम' के नाम से चर्चित थानाध्यक्ष पिलुआ सुधीर कुमार सिहं, एसएसआई अखिलेश कुमार , एसआई रमेश चन्द्र गौतम  पुलिस बल के साथ कस्वा क्षेत्र में वाॅछित अपराधी/संदिग्ध वाहन आदि की चैकिगं कर रहे थे। तभी सिकन्द्राराऊ की ओर से एटा की ओर आते सामने से एक कैन्टर गाड़ी आती दिखायी दी। जिसे पुलिस बल द्वारा चैकिंग हेतु रुकने का इशारा किया तो गाड़ी चालक ने कैन्टर को तेजी से भगाने का प्रयास किया। तभी कैन्टर के पीछे चल रही गाड़़ी स्विफ्ट आती दिखाई  दी जो पुलिस बल को देख वापस सिकन्द्राराऊ की तरफ लौट गयी। दोनों गाड़ियों की स्थिति संदिग्ध लगने पर पुलिस टीम द्वारा कैन्टर गाड़ी का पीछा कर ओवरटेक कर नगला गूलर के सामने मैंन रोड़ पर रुकवा लिया गया। पुलिस टीम सरकारी वाहन से ऊतर कर कैन्टर की ओर जाने लगी तो कैन्टर में व्यक्तियों द्वारा ने उतरकर पुलिस टीम पर फायरिंग शुरु कर दी। पुलिस ने अपना घेराबन्दी कर तीन अभियुक्तों को पकड़ लिया गया। जामातलाशी लेने पर अभियुक्तों के कब्जे से दो तमंचे 315 बोर व 2 खोखा-2 जिन्दा कारतूस 315 बोर बरामद किये गये। सख्ती से पूछे जाने पर तीनों अभियुक्तों ने सामूहिक रूप से बताया कि हम लालच व ऐशो आराम के लिए शराब की तस्करी करते हैं और पुलिस  से बचनें के लिए कैन्टर में अन्य वाहन की फर्जी नम्बर प्लेटें भी रखते हैं और निश्चल सारस्वत द्वारा बताया गया कि वह अपनी गाड़ी स्विफ्ट एच0आर0 95-5421 कैन्टर के पीछे-पीछे चलकर उ0प्र0 का बार्ड़र पार कराने में सहयोग करता है। हम हरियाणा से शराब की तस्करी करीब एक साल पहले से कर रहे हैं। हम लोग हरियाणा प्रान्त की शराब कम दामों में खरीदकर उ0प्र0 व बिहार प्रान्त में अधिक दामों पर बेचकर मिले मुनाफा को आपस में बराबर - बराबर बांट लेते हैं, तथा शराब की खेप को मुजफ्फरपुर बिहार में सुमन सिंह प्रधान के यहाॅ खाली कर वापस हो जाते हैं। कब्जे में लिये गये कैन्टर को चैक किया गया तो उसमें 45 पेटी अवैध शराब की बरामद की गयी। जिसमें से एक पेटी को खोलकर देखा गया तो उसमें रखी बोतलों पर *”Officers Choice Blue 375ml Fore Sale In Hariyana Only“* अंकित हैे व पुलिस को धोखा देने के लिये कैन्टर की बाडी व इंजन के बीच में बनाये कैबिन में रखी गयीं 35 पेटियों में से एक पेटी को खोल कर देखा गया तो उसमें रखे प्रत्येक क्वार्टर पर *“Officers Choice Blue 180ml 42.8% Fore Sale In Hariyana Only“* लिखा है। इस प्रकार कुल 80 पेटी अवैध शराब की बरामद की गयी। बरामद शराब की अनुमानित कीमत लगभग 8 लाख रूपये है। इस अवैध धन्धे में संलिप्त अभियुक्तगण अपने व्यक्तिगत लाभ के लिये दूसरे प्रान्त से सस्ते दर पर शराब खरीद कर उ0प्र0 राज्य में बेचकर उ0प्र0 सरकार के राजस्व को नुकसान पहुॅचा रहे है।
   एएसपी संजय कुमार ने प्रेसवार्ता में बताया कि इस संबंध में अभियुक्तगण के विरूद्ध थाना पिलुआ पर अभियोग पंजीकृत होकर प्रभावी वैधानिक कार्यवाही की जा रही है तथा इस अवैध धन्धे में संलिप्त अन्य  अभियुक्तों की गिरफ्तारी के सार्थक प्रयास जारी है। उन्होंने बताया कि पुलिस टीम द्वारा किये गये सराहनीय कार्य हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा 5000 रुपये से पुरस्कृत करने की घोषणा की गयी है।
गिरफ्तार अभियुक्तों का नामपता:-
1- जितेन्द्र खत्री पुत्र जिले सिंह निवासी फ्लैट नं0 819, ग्राम इस्माइला, सेक्टर 28, रोहिणी, दिल्ली।
2- निश्चल सारस्वत पुत्र रमेश चन्द्र शर्मा निवासी तुलाईगढ़ी थाना माॅट जनपद मथुरा ।
3- बृजेन्द्र कुशवाहा पुत्र घसीटे कुशवाहा निवासी हरदुआ थाना चिकासी जनपद हमीरपुर ।
प्रकाश में आये अभियुक्तों का नामपता:-
1- देवेन्द्र पुत्र चन्दर निवासी नारी थाना कुण्ड़ली हरियाणा।
2- गुरूमीत निवासी चण्ड़ीगढ़।
3- अनिल निवासी खेड़ा थाना नरेला, दिल्ली।
4- सुमन सिंह प्रधान निवासी मुजफ्फरपुर, बिहार।
5- विनोद सोलंकी कैन्टर मालिक।
6- रमेश चालक गाड़ी नं0 एच0आर0 46 ड़ी0 7859।
बरामद माल का विवरण:-
1- 80 पेटी हरियाणा मार्का शराब कीमत करीब 8 लाख रूपये।
2- एक कैण्टर नम्बर ड़ी0एल0 1 जी0एल0 6202।
3- दो तमंचा व 2 जिन्दा, 2 खोखा कारतूस 315 बोर।
4- 2 फर्जी प्लेटें।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.