Header Ads

एटा सीओ अलीगंज की कार्यप्रणाली की मुरीद हुई जनता,खुले में जनता दरबार लगा कर रहे समस्याओं का निस्तारण,समस्या सुनने से फरियादी की करते हैं आवभगत

एटा-
वह पुलिस विभाग में डिप्टी एसपी के पद पर तैनात हैं, फिर भी उनमें पुलिसिया रुआब नहीं है। पीड़ित की फरियाद सुनने को खुले में अपना दरबार लगाते हैं। समस्या सुनने से पूर्व पीड़ित को पूरा सम्मान देते हैं। तसल्ली से बैठाकर गंभीरता से पीड़ित की समस्या सुनते हैं और फिर उसका समाधान करते हैं। वह आमजन में पुलिस के प्रति विश्वास भी पैदा कर रहे हैं।
     जी, हां! हम बात कर रहे हैं जनपद एटा के अलीगंज सर्किल में तैनात डिप्टी एसपी अजय भदौरिया की। उनकी इस कार्यप्रणाली की चर्चा चहुंओर हो रही है। डिप्टी एसपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व शासन के पुलिस मित्र कथन को चरितार्थ कर रहे हैं। डीजीपी सुलखान सिंह भी कई मौकों पर पुलिस अफसरों से साफ कह चुके हैं कि वे आमजन में पुलिस के प्रति विश्वास पैदा कराएं। उनसे मित्रवत व्यवहार करें, जिससे पीड़ित बेझिझक होकर अपनी पीड़ा उनके समक्ष बयां कर सके। इसी पैटर्न पर डिप्टी एसपी अलीगंज अजय भदौरिया कार्य कर रहे हैं। पीड़ितों की आवभगत के साथ वे उन्हें बताते हैं कि हम आपके सेवक हैं।अपनी समस्या निसंकोच हमें बताएं। यही नहीं, डिप्टी एसपी मिलने आने वाले लोगों को खेल का महत्व बताने से भी नहीं चूकते हैं।
      बताते चलें डिप्टी एसपी अजय भदौरिया बॉलीबॉल चैंपियनशिप यूपी पुलिस का बतौर कप्तान प्रदेश, राष्ट्रीय व अंतराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिनिधित्व भी कर कई खिताब अपने नाम कर प्रदेश और देश का नाम रोशन कर चुके हैं। पुलिस में भर्ती होने से पहले सीओ अजय भदौरिया ने कई मैडल जीते हैं। रजत पदक इलाहाबाद विश्वविद्यालय आल इंडिया विश्वविद्यालय ,वर्ष 1981 में उत्तर प्रदेश राज्य टीम में चुना गया, जिसमें उन्होंने राष्ट्रीय चैंपियनशिप फरीदाबाद में भाग लिया। वर्ष 1981 में उत्तर प्रदेश टीम के सदस्य के रूप में उन्हें चुना गया। फेडरेशन कप हैदराबाद में हिस्सा लिया ,वर्ष 1981 में ही उत्तर प्रदेश राज्य की बालीबाल टीम में चुनने के बाद भारत की तरफ से श्रीलंका खेलने गए । जिसमे सात टेस्ट मैच खेले और सभी मैच जीते भी ,वर्ष 1982 में कोट्टयम केरल के हिस्सा लिया ,वर्ष 1982 में ही उत्तर प्रदेश राज्य टीम की ईस्ट ज़ोन में इनको चुना गया तथा 9 वी एशियाड खेल दिल्ली में हिस्सा लिया। वर्ष 1984 में अजय भदौरिया पुलिस में भर्ती हुए और 1985 में उत्तर प्रदेश पुलिस टीम का प्रतिनिधित्व किया ,1986 में उत्तर प्रदेश पुलिस टीम का प्रतिनिधित्व करते हुए लखनऊ में उत्तर प्रदेश पुलिस बॉलीबाल टीम में प्रथम स्थान प्राप्त किया ,1986 में उत्तर प्रदेश पुलिस की ओर से एक मात्र खिलाड़ी के रूप में श्री भदौरिया को भारतीय बॉलीबॉल टीम में चुना गया तथा अन्तर्विभागीय राट्रीय चैंपियनशिप हैदराबाद में स्वर्ण पदक जीत कर नाम रोशन किया।  1987 में पुलिस टीम से चुना गया उस दौरान राष्ट्रीय चैंपियन शिप बैंगलौर में कांस्य पदक जीता |
इसी दौरान अजय भदौरिया को उत्तर प्रदेश पुलिस टीम का कप्तान मनोनीत किया गया । 1993 में भारतीय पुलिस खेल कूद प्रतियोगिता लखनऊ में उत्तर प्रदेश पुलिस बॉलीबाल टीम का नेतृत्व किया और रजत पदक प्राप्त किया। डिप्टी श्री भदौरिया इन सभी ख्यातियो के अलावा और बहुत नाम कमा चुके है। इन दिनों जनपद एटा के अलीगंज सर्किल में तैनात है ,बेहद सरल स्वभाव के सीओ अलीगंज खुले में जनता दरबार लगाते है और लोगो की समस्याएं सुन निस्तारण करते है। इन दिनों सीओ अजय भदौरिया का ये अंदाज आम -जनमानस को ख़ूब भा रहा है। लोगो को खेलो के प्रति भी जागरूक करने का कार्य कर रहे है। वह खेलो के साथ -साथ अपराध और अपराधियो को लेकर भी बेहद कड़ा रूख अपनाते है।
    सीओ श्री भदौरिया कहते हैं कि खेल से व्यक्ति का सम्पूर्ण विकास होता है। हम सभी को खेलों के प्रति गंभीर होना चाहिए।
रिपोर्ट- सुनील कुमार

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.