Header Ads

वाह रे बिजली विभाग, ना मीटर लगा ना ही तार खिंचे और नाबिजली जली फिर भी बिल आ गया एक लाख बयासी हजार

 एटा- झोपड़ी मेंरहने वाले और फरीदाबाद में सब्जी की ढकेल लगाकर अपनी रोजी रोटीचलाने वाले इस्लाम मलिक हैरान परेशान है कि आखिर उसका कसूर क्याहै। क्या उसका बस यही कसूर है कि उसने ये ख्वाब देखा कि वो भी मीटरलगवाकर बिजली जलाकर अपनी झोपड़ी को रोशन करे ले लेकिन येख्वाब उसके सपनों को हकीकत में बदलने के लिए कितना भारी पड़ेगाजब दो साल पहले उसे बिजली विभाग ने एक लाख बयासी हजार काबिल थमा दिया। आर सी कट गयी और अब विभाग के अधिकारी उसेपैसा ना जमा करने पर जेल भेंजने की धमकी दे रहे है। सिस्टम से परेशानइस्लाम मलिक ने उर्जा मंत्री से इंसाफ दिलाने की गुहार लगायी है।
वीओ-  शहर कोतवाली से 4 किमी दूर ये गॉंव नगला तेली है। एक कमरेकी कच्ची सी झोपड़ी में रहने वाले इस्लाम मलिक उस पल को याद कररहा है जब आज से करीब बीस साल पहले उसने बिजली के मीटर के लिएआवेदन किया था और इसके लिए इस गरीब ने 400 रुपये भी विभाग मेंजमा कर दिया। आवेदन जमा होने के बाद विभाग के जेई आये औरकच्ची झोपड़ी देख मना कर दिया यहॉं मीटर नहीं लग सकता है तुम्हारेजमा पैसे बेकार चले गये। इस्लाम मलिक ने सोचा कि चलो कोई बातनहीं। आर्थिक तंगी से जूझ रहा ये परिवार अपने पत्नी और बच्चों कोलेकर दो वक्त की रोटी के लिए फरीदाबाद चला गया जहॉं वो सब्जी कीढकेल लगाकर अपने परिवार का भरण पोषण कर रहा था। इस्लाम उससमय आश्चर्यचकित हो गया जब उसके गॉंव में दो साल पहले बिजलीविभाग ने एक लाख बयासी हजार का बिल पहुंचा दिया। गॉंव के लोगों नेजब इस्लाम से संपर्क साधा तो ये सुन इस्लाम के होश फाख्ता हो गये किवो गरीब इतना बड़ा बकाया कैसे जमा करेगा जबकि उसकी झोपड़ी मेंमीटर लगा नहीं, तार खिंचे नहीं और बिजली जलाई नहीं। फरीदाबाद से 2साल से चक्कर लगा रहा इस्लाम अधिकारियों के आगे अपनी बेबसी औरबेकसूरी का रोना रोता रहा लेकिन अधिकारियों के कॉंन में जूं तक नहींरेंगी और आर सी काट ये फरमान सुना दिया कि बिल जमा नहीं हुआ तोतुम्हे जेल जाना होगा। इस पूरे मामले में दरअसल मीटर ना लग पाने पररिपोर्ट जेई और एस डो को देनी थी लेकिन उन्होंने नहीं दी जिसकाखामियाजा इस्लाम भुगत रहा है। इतना ही नहीं विभाग में बैठ दलालों नेइस्लाम की मजबूरी का फायदा उठाकर मामला खत्म करने के नाम पर50 हजार ले लिया लेकिन नतीजा वहीं ढॉंक के तीन पात। बीबी के गहनेजेवर बेचकर इस्लाम ने ये रकम दी थी। अब दो साल से विभाग के चक्करलगा कर हार चुके इस्लाम ने उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने इंसाफ दिलाने कीगुहार लगायी है। वहीं इस पूरे मामले पर विभाग के आला अधिकारी कैमरेका सामना करने से बचते नजर आ रहे है। वहीं इस्लाम ये सोचने कोमजबूर है कि आखिर उसका कसूर क्या है और उसकी गल्ती क्या है जोबेकसूर होते हुए भी उसे भुगतनी पड़ रही है।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.