Header Ads

एटा मे विना हाथ के धर्मवीर लिख रहा वोर्ड परीक्षा मे मुँह से अपनी तकदीर,दोनो कटे हाथ फिर भी तकदीर लिखने को वेबस

एटा-
जैथरा कसबे में एक गंगा किशन शिक्षण संस्थान
के छात्र का पढ़ाई के लिए जज्बा इलाके में मिसाल बना हुआ है,इस छात्र के दोनों हाथ कटे होने के बाद भी यह इंटर मीडिएट की यू पी बोर्ड की परीक्षा मुह में कलम पकड़ कर दे रहा है । इस छात्र ने शिक्षा विभाग से राइटर की मांग की थी परंतु शिक्षा विभाग की की अपचारिकताए पूरी न कर पाने  के चलते इसको राइटर नहीं मिल सका । केंद्र अधीक्षक कहते है कि इसने राइटर प्राप्त करने के फॉर्मेल्टीज पूरी नहीं की इसलिए इसे राइटर नहीं मिला । मानवीय दृश्टिकोण को देखते हुए जिला प्रशाशन को इसे राइटर देना चाहिए था परंतु जिला प्रशाशन और शिक्षा विभाग नियम कानून का रटा रटाया हवाला देकर इसको टॉलता रहा । जब इसको प्रशाशन ने राइटर नहीं दिया तो भी इसने हिम्मत न हारते  हुए मुह में कलम थाम ली और पूरे लचर सिस्टम को अपने हौसले और जज्बे से ठेंगा दिखा दिया ।
एटा-
जैथरा में गंगा  शिक्षण संस्थान में एक छात्र धर्मवीर शर्मा इंटर मीडिएट के पेपर दे रहा है । आज इसका फिजिक्स का पेपर था। इसके दोनों हाथ कटे हुए हैं और ये मुह में कलम पकड़ कर कॉपी में लिखकर एग्जाम दे रहा हैं । 2007 में इसके गाव में इसके ऊपर हाई टेंसन बिजली का तार गिर गया था जिस से इसके दोनों हाथ कट गए थे ,अपनी ननिहाल नगला हरजू अलीगंज में रह कर इंटरमीडिएट की पढ़ाई कर रहा है । उसके बाद इसने हाइ स्कूल की परीक्षा इसी प्रकार से मुह में कलम पकड़ कर दी और पास भी की
। इसके बाद भी शिक्षा प्राप्त करने के इसके जज्बे के तहत इसने अपनी पढाई जारी राखी और इस बार ये इंटर मीडिएट का एग्जाम दे रहा है ।
धर्मवीर ने इस बार शिक्षा विभाग से अपने लिए राइटर की मांग की थी परंतु विभाग की उदासीनता के चलते इसको राइटर नहीं मिल सका । जिसके कारण मजबूरी में इसको मुह में कलम पकड़कर परीक्षा देनी पड़ रहा है । धर्मवीर का कहना है कि मुह से कलम पकड़कर लिखने के कारण इनकी गर्दन में दर्द होने लगता है और निश्चित समय सीमा में ये उत्तर नहीं लिख पाते । समय कम पड़  जाता है । ऐसी हालत में मानवीय दृस्टि कोण को देखते हुए शिक्षा विभाग को धर्मवीर को राइटर दे देना चाहिए। परंतु इस व्यवस्था में सही व्यक्ति की सही बात मनवाने के लिए भी बहुत सारी फॉर्मेल्टीज करनी पड़ती हैं जो धर्मवीर कर नहीं पाया ।
गंगा किशन शिक्षण संस्थान के केंद्र व्यवस्थापक का कहना है कि धर्मवीर ने राइटर लेने की जो फॉर्मेल्टीज होती हैं वो ये कर नहीं पाया । इसके दोनों हाथ कटे हुए है जिससे ये ठीक से लिख नहीं पाता ।







'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.