Header Ads

एटा तहसील दिवस में डीएम विजय किरन आनन्द ने दिये सख्त निर्देश,शिकायतो के निस्तारण में अब नहीं चलेगी खानापूर्ति, गुणवत्तापूर्ण न होने होगी कार्यवाही

प्रार्थनापत्रों की जांच हेतु सभी कार्यालयों में स्वतंत्र चैकिंग व्यवस्था स्थापित की जाये-डीएम
एटा। डीएम विजय किरन आनन्द ने कहा कि तहसील दिवस मंे प्राप्त शिकायतों के निस्तारण में खाना पूर्ति अब कतई बर्दाश्त नहीं होगी। संबंधित अधिकारियों द्वारा शिकायतों का निस्तारण पूर्ण गुणवत्ता के साथ किया जाये, जिन शिकायतों के निस्तारण हेतु मौके पर जाने की जरूरत पड़े तो मौके पर जरूर जाकर निस्तारण करें, साथ ही शिकायतकर्ता को भी सूचित करें कि उसके द्वारा प्रस्तुत शिकायत का निस्तारण कर दिया गया है। डीएम ने पिछले पैंडिंग पड़े तहसील दिवस के 43 प्रार्थनापत्रों को तत्काल तीन दिवस में निस्तारण करने के निर्देश दिये, उन्होंने कहा कि सदर तहसील में कम से कम 250-300 प्रार्थनापत्र तहसील दिवस के दौरान प्रस्तुत होने चाहिए, जनता का विश्वास जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ कायम रहेगा, तभी तहसील दिवस का उद्देश्य सही मायनों में साबित होगा।
           डीएम विजय किरन आनन्द मंगलवार को एटा सदर तहसील दिवस की अध्यक्षता करते हुए कहा कि शिकायत निवारण प्रणाली के तहत सभी कार्यालयों में शिकायत रजिस्टर उपलब्ध रहना चाहिए, संबंधित अधिकारी द्वारा रजिस्टर की पैशानी आदि भी चैक की जाये, साथ ही प्रत्येक दिन 15 मिनट एवं शनिवार को स्वयं कार्यालय में बैठकर शिकायत रजिस्टर में दर्ज शिकायतों के निस्तारण की स्थिति को चैक करें, शिकायतकर्ताओं से फोन पर वार्ता करें। इसके अलावा आईजीआरएस, आनलाईन, कोर्ट केस, आयोग में लंबित केसों के निस्तारण की प्रगति समय-समय पर चैक की जाये। फील्ड स्तरीय कर्मचारियों की कार्यशैली की माॅनीटरिंग हेतु प्रार्थनापत्रों की स्वतंत्र जांच होनी चाहिए, जिसके तहत स्वतंत्र चैकिंग की व्यवस्था प्रत्येक कार्यालय में स्थापित की जाये। डीएम ने निर्देश दिये कि सभी जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा अपने-अपने विभाग से संबंधित योजनाओं की जानकारी एवं पात्रों को लाभान्वित कराने हेतु क्षेत्रवार चैपाल लगाईं जायें। जनपद के किसी भी ट्यूबैल पर कमाण्ड एरिया डवलपमेंट न होना बेहद ही निराशाजनक है, जिसकी प्रगति हेतु डीसी मनरेगा, अधिशासी अभियंता ट्यूबैल द्वारा विशेष प्रयास किया जाये।
             डीएम ने पिछले दो तहसील दिवस के दौरान प्रस्तुत प्रार्थनापत्रों के निस्तारण की प्रगति को चैक किया, साथ ही जिला समाज कल्याण अधिकारी, पीओ डूडा, फाॅरेस्ट रैंजर द्वारा प्रार्थनापत्रों के निस्तारण की गुणवत्ता की रैण्डमली जांच कराते हुए रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। डीएम ने शशीकांत निवासी कांशीराम कालौनी मानपुर द्वारा की गई रिक्शे की मांग पर समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिये कि विकलांग व्यक्ति को रिक्शा उपलब्ध कराऐं, साथ ही कम से कम 50 रिक्शे हर समय उपलब्ध रहने चाहिए, जिससे आने वाले फरियादियों को समयानुरूप लाभान्वित किया जा सके। सत्यवीर सिंह निवासी रामई हेतमशाह द्वारा की गई भूमि की पैमाईश संबंधी शिकायत पर तहसीलदार को पैमाईश हेतु निर्देश दिये। डीएम ने ग्राम पंचायत खकरई में राशन की दुकान के संबंध में की गई शिकायत पर पूर्ति निरीक्षक श्रीमती सरिता द्वारा की गई निस्तारण की खानापूर्ति पर डीएम ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की, साथ ही निर्देश दिये दोबारा ऐसा हुआ तो कड़ी कार्यवाही की जायेगी। डीएम ने शिकायत के निस्तारण में खानापूर्ति करने पर दुर्गपाल लेखपाल को कड़ी फटकार लगाई।
         सीडीओ प्रताप सिंह भदौरिया ने कहा कि तहसील दिवस में प्राप्त शिकायतों के निस्तरण की प्रगति काफी खराब है, इसमें सुधार हर हाल में होना चाहिए। संबंधित अधिकारी, बीडीओ द्वारा निस्तारण की जांच मंे शिथिलता न बरती जाये, प्रार्थनापत्र स्वयं भी चैक करें, बाबुओं के भरोसे न हें। एटा सदर तहसील में डीएम के समक्ष कुल 67 प्रार्थनापत्र प्रार्थनापत्र निस्तारण हेतु प्रस्तुत किये गये, जिसमें से 21 राजस्व, 13 पुलिस, 4 विकास सहित 29 अन्य विभागों से संबंधित थे, जिसमें से 3 प्रार्थनापत्रों का मौके पर ही निस्तारण कर दिया गया तथा शेष प्रार्थनापत्रों का सात दिन के अंदर निस्तारण करने के निर्देश दिये।
           इस अवसर पर एसडीएम सदर संजीव कुमार, पीडी आरके गौतम, डीडीओ एसएन सिंह कुशवाह, एलडीएम, डीएचओ, सीवीओ, समाज कल्याण अधिकारी, डीपीओ सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी, सीओ, तहसीलदार रनवीर सिंह आदि मौजूद थे। तहसील अलीगंज में एडीएम महेश चन्द्र शर्मा, एसडीएम रवीप्रकाश श्रीवास्तव सहित अन्य अधिकारियांे की मौजूदगी मेें आयोजित तहसील दिवस में कुल 11 प्रार्थनापत्रों मंें से 1 का निस्तारण किया गया। जलेसर में एसडीएम मो0 आवेश की अध्यक्षता में तहसील दिवस के दौरान कुल 20 शिकायतें आईं।

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.