Header Ads

बुलन्दशहर में रालोद प्रत्याशी मनोज गौतम ने चुनाव मे जनता की सिंपैथी बटोरने के लिये करवाई भाई की हत्या,कॉल डिटेल से खुली पोल

बुलन्दशहर-विधायक बनने के लिए रालोद प्रत्याशी मनोज गौतम ने अपने भाई और एक समर्थक की हत्या कारवादी,जनता की सहानभूति बढ़ाने के लिए करवाई गई हत्या,
खुर्जा से राष्ट्रीय लोकदल के टिकट पर चुनाव लड़ रहे प्रत्याशी ने अपने सगे भाई और उसके दोस्त को मौत के घात उतरवा दिया दौहरे हत्याकांड से हरकत में आई पुलिस ने तह तक जाने के लिए कुंडली खगालना शुरू किया तो जो सच सामने आया उसने मानवता सहित रिश्तों को शर्मशार कर दिया पत्रकार वार्ता करती एसएसपी सोनिया सिंह राजनीति में सफल होने के लिए रालोद से प्रत्याशी मनोज गौतम ने लोगों की सहानभूति पाने के लिए अपने ही भाई को मरवा दिया प्रदेशभर में इस हत्याकांड की चर्चा हो रही है वहीँ बुलंदशहर की एसएसपी सोनिया सिंह के नेतृत्व में पुलिस ने 12 घंटे में ही घटना का पर्दाफाश करके अभियुक्त के मंसूबे पर पानी फेर दिया है बताते चलें कि सोमवार को देर शाम पुलिस को खुर्जा से रालोद प्रत्याशी मनोज गौतम ने सूचना दी कि उसका भाई विनोद स्कार्पियो सहित लापता है पुलिस ने टीमे गठित कर जांच शुरू कर दी मंगलवार तडके पुलिस को अगवाल फाटक के पास स्कार्पियो लावारिस हालत में मिली और पास के ही खेत से विनोद और उसके दोस्त सचिन के शव भी बरामद हुए दोनों की गोली मारकर हत्या की गई थी पुलिस ने मामले की तफ्तीश शुरू की तो विनोद के फ़ोन से जो रिकॉर्डिंग हाथ लगी उसने पूरे मामले को हकीकत खोलकर रख दी दौहरे हत्याकांड की सुचना से डीआइजी, एसएसपी सहित कमिश्नर ने भी खुर्जा का दौरा किया था पुलिस ने कॉल रिकॉर्ड और रिकॉर्डिंग के आधार पर राष्ट्रीय लोकदल के प्रत्याशी मनोज गौतम को गिरफ्तार कर लिया साथ ही फिरोज नाम के युवक को भी गिरफ्तार किया है बुलंदशहर एसएसपी सोनिया सिंह ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि रालोद प्रत्याशी मनोज गौतम ने स्वंय अपने भाई की हत्या का नाटक रचा था ताकी वह चुनाव जीतने के लिए  लोगों की सहानभूति हासिल कर सके पुलिस ने मनोज गौतम व शार्प शूटर फिरोज  को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है और मनोज से हत्या में प्रयुक्त किया गया पिस्टल भी बरामद कर ली है पुलिस के द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि  पूँछताछ पर राष्ट्रीय लोकदल प्रत्याशी मनोज कुमार गौतम द्वारा बताया गया कि मैने राजनीति में करोडो रुपये गवां दिये है फिर भी मुझे बसपा का टिकट नही दिया गया ओर मैनें राष्ट्रीय लोकदल से टिकट लिया तभी से मेरे दिमाग में ये बात आयी की अपने सगे-सम्बन्धी की चुनाव के दो-चार दिन पहले हत्या कराकर जिसका आरोप मेरे प्रतिद्वन्दी पर लग जायेगा और जनता की सहानुभूति मेरे साथ हो जायेगी तथा मैं विधायक बन जाऊंगा पुलिस के मुताबिक मनोज गौतम ने साजिश पांच-छ दिन पहले ही रच ली थी लेकिन मौका नहीं मिल सका था मनोज गौतम ने यह भी क़ुबूल किया है कि उसने ही खुद कॉल करके विनोद को बुलाया था रालोद प्रत्याशी के दौहरे हत्याकांड में फंसने से खुर्जा का सियासी समीकरण एक बार फिर बदल गया है बताया जा रहा है कि मनोज गौतम चुनाव में मुख्य लड़ाई में था हालांकि पुलिस की थ्योरी में कई झोल भी हैं जिनका क्लियर होना अभी बाकी है पूरी घटना ने लोगों को हिलाकर रख दिया है सवाल यही है कि आखिर चुनाव जीतने के लिए कोइ कैसे इतना गिर सकता है कि अपने ही भाई की हत्या करवा दे
रीशू कुमार
'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.