Header Ads

एटा डीएम और एसएसपी ने एस ओ को लगाई लताड़,कार्यसैली में सुधार लाने के दिए निर्देश

एटा-डीएम,एसएसपी ने रेवाड़ी गांव पहुंचकर लिया चुनावी व्यवस्थाओं का जायजा
अव्यवस्था मिलने पर एसओ को लगाई फटकार,कार्यशैली में सुधार लाने के निर्देश
ग्रामीणों से निर्भीक होकर शतप्रतिशत मतदान करने की अपील की
एटा-जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी विजय किरन आनन्द एवं वरिष्ट पुलिस अधीक्षक सत्यार्थ अनिरूद्ध पंकज ने सोमवार की देर सांय विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2017 को स्वतंत्र, निष्पक्ष, शांतिपूर्ण एवं सुव्यवस्थित ढंग से सम्पन्न कराये जाने के उद्देश्य से एटा सदर विधानसभा क्षेत्र के अतिसंवेदनशील गांव रेवाड़ी पहुंचकर चुनावी व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने पोलिंग बूथ पर एकत्रित हुए ग्रामीणों से निर्भीक होकर शतप्रतिशत मतदान करने की अपील की, उन्होंने कहा कि अब किसी भी राजनैतिक दबाव में डरने की जरूरत नहीं हैं, सभी अपने मताधिकार का बिना किसी भेदभाव के प्रयोग करें।
         डीएम, एसएसपी ने सकीट थाना पहुंचकर हिस्ट्रीसीटर, गैंगस्टर, माफियाओं एवं हीनियस क्राइम सहित चुनाव के दौरान गड़बड़ी करने वाले अराजकतत्वों के बारे में जानकारी करते हुए अतिशीघ्र कार्यवाही करने के निर्देश दिये। डीएम, एसएसपी द्वारा गांव के कई घरों में जाकर परिवारों से गत चुनाव के दौरान कम मतदान की वास्तविक स्थिति की जानकारी की।
              जिला मजिस्ट्रेट ने गांव रेवाड़ी में पंचायत चुनाव के दौरान दो पक्ष़्ां में हुए आपसी विवाद को ग्रामीणों के संज्ञान में लाते हुए गहन पूछताछ की, साथ ही सकीट थाना प्रभावी से ग्रामीणों के साथ आपसी समंजस्य करते हुए बेहतर कम्प्यूनिकेशन स्थापित करने के निर्देश दिये। उन्होंने थाना प्रभारी द्वारा की गई अब तक की कार्यवाही पर गहरा असंतोष व्यक्त करते हुए कड़ी चेतावनी दी कि 24 जनवरी की अपरान्ह तक गांव के सभी चिन्हित माफियाओं के खिलाफ पाबंदी की कार्यवाही तो की ही जाये, साथ ही अधिक से अधिक धनराशि का मुचलका भी भरवाया जाये।
           जिला मजिस्ट्रेट विजय किरन आनन्द ने थाना क्षेत्र के शस्त्र धारकों के शतप्रतिशत शस्त्र जमा कराने के निर्देष दिये, साथ ही यह भी आगाह किया कि यदि किन्हीं कारणों से असलाह जमा नहीं हो पा रहा है, उसकी रिपोर्ट स्क्रीनिंग कमेटी को प्रस्तुत की जाये। एसओ को निर्देश दिये कि गत चुनाव के दौरान मतदान का प्रतिशत काफी रहा है, इसे बढ़ाये जाने के उद्देश्य से ग्रामों में मुनादी कराई जाये, साथ ही महिला जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन कराते हुए सांयकालीन बैठकें भी आयोजित कराई जायें। जिला मजिस्ट्रेट ने एसओ को निर्देश दिये कि प्रतिदिन कम से कम 5 गांवों का निरीक्षण कर मतदान से संबंधित सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त कर रिपोर्ट एसएसपी एवं अन्य उच्चाधिकारियों को प्रेषित करें। गांव में चुनाव से संबंधित हर गतिविधि पर पुलिस की कड़ी नजर होनी चाहिए।
          जिला मजिस्ट्रेट विजय किरन आनन्द द्वारा निरीक्षण के दौरान पोलिंग बूथ पर शौचालय की स्थिति बेहद खराब पाई गई, शौचालय में काफी गंदगी थी, प्रतीत हो रहा था कि काफी समय से शौचालय का प्रयोग नहीं हुआ और ना ही किसी भी तरह का मरम्मत कार्य हुआ हैं। उन्होंने तहसीलदार को निर्देश दिये कि प्रतिदिन सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट, उड़नदस्तों द्वारा पोलिंग बूथां सहित ग्रामों के निरीक्षण की रिपोर्ट प्रस्तुत करें, जिससे गांवों की मौजूदा स्थिति से रूबरू हुआ जा सके। निरीक्षण के दौरान तहसीलदार रनवीर सिंह आदि मौजूद रहे।


'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.