Header Ads

एटा बूथो पर गड़बड़ी मिली तो सेक्टर मजिस्ट्रेट होगे जिम्मेदार,जिला मजिस्ट्रेट पोलिंग बूथ पर मूलभूत व्यवस्थाएं स्वयं चैक करें सेक्टर मजिस्ट्रेट

एटा-
जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी विजय किरन आनन्द ने कहा कि विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2017 को स्वतंत्र, निष्पक्ष, शांतिपूर्ण एवं सुव्यवस्थित ढंग से सम्पन्न कराये जाने के उद्देश्य से 12 जोनल एवं 128 सेक्टर मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गई है। उन्होंने निर्देश दिये कि सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने क्षेत्र के पोलिंग बूथों का भ्रमण कर सभी आवश्यक व्यवस्थाएं शौचालय, पेयजल, विद्युत, रैम्प, एप्रोच रोड आदि स्वयं चैक कर देख लें, यदि किसी भी बूथ पर कोई समस्या है तो उसे तत्काल दूर किया जाये। गत चुनाव के दौरान जिन बूथों पर 50 प्रतिशत से कम मतदान हुआ है उन बूथों पर विशेष रूप से फोकस किया जाये, बूथ के आसपास एवं गांव के सबसे गरीब मोहल्ले में जाकर गरीब व्यक्तियों से वार्ता अवश्य करें, साथ ही उन्हें मतदान करने हेतु प्रेरित भी करें।
            जिला मजिस्ट्रेट विजय किरन आनन्द मंगलवार की देर सांय अविनाशी सहाय आर्य इण्टर कालेज में जोनल एवं सेक्टर मजिस्ट्रेटों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट सौंपे दायित्वों का पूर्ण निष्ठा के साथ निर्वहन करें, साथ ही प्रयास करें कि जनपद में इस बार 80 प्रतिशत से अधिक मतदान हो सके। सेक्टर मजिस्ट्रेटों को राजनैतिक दबाब या किसी अन्य व्यक्ति से डरनें की जरूरत नहीं हैं, पूर्ण संरक्षण दिया जायेगा, यदि कोई गुण्डा प्रवृत्ति का व्यक्ति क्षेत्र में है तो उसकी रिपोर्ट आरओ को करें। सेक्टर मजिस्ट्रेट द्वारा की गई रिपोर्ट पर सभी आरओ द्वारा संबंधित व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाये। सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट क्षेत्र भ्रमण के दौरान गांव के प्रधान, पूर्व प्रधान, ग्राम सचिव, लेखपाल, थाना प्रभारी, सीओ, एसडीएम आदि के मोबाइल नम्बर अपने पास अवश्य नोट करें, जिससे निर्वाचन के दौरान किसी भी प्रकार की अव्यवस्था न हो सके।
            जिला मजिस्ट्रेट विजय किरन आनन्द ने कहा मतदाता जागरूकता हेतु भी ग्रामों में बेहतर कार्यक्रम आयोजित करायेंजाये, इस हेतु महिला जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन भी होना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि मताधिकार संवैधानिक अधिकार है, सभी का हक हैं कि वे निर्भीक होकर अपने मत का प्रयोग करें।
         डीएम ने निर्देश दिये कि पोलिंग बूथ पर इस बार मतदान के दौरान यदि किसी भी प्रकार की अव्यवस्था पाई गई तो उसके लिए सेक्टर मजिस्ट्रेट ही जिम्मेदार होंगे, किसी भी बूथ पर रीपोल की नौबत नहीं आनी चाहिए। सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने क्षेत्र के सर्वेसर्वा हैं, सेक्टर मजिस्ट्रेट के साथ किसी भी प्रकार की हस्तक्षेप नहीं होने दिया जायेगा। अच्छा कार्य करने वाले सेक्टर मजिस्ट्रेटों को पुरस्कृत भी किया जायेगा

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.