Header Ads

एटा हम तो डूबेंगें सनम तुम्हे भी ले डूबेंगें सनम। जी हॉं सपा में फैली रार-विधायक आशु यादव

हम तो डूबेंगें सनम तुम्हे भी ले डूबेंगें सनम। जी हॉं सपा में फैली रार अब स्थानीय स्तर भी देखने को मिल रही है। 
एटा-


 सदर विधानसभा से सिटिंग एम एल ए आशीष यादव की टिकट कटने से नाराज सपा विधायक ने अपने सैकड़ो सर्मथकों के साथ सपा से इस्तीफा दे दिया है। विधान परिषद सभापति रमेश यादव के बेटे और एटा सदर से सपा विधायक आशीष यादव बागी तेवर दिखाते हुए सपा से इस्तीफा देकर निर्दलीय प्रत्याशी के रुप में एटा सदर विधानसभा से लड़ने की घोषणा कर दी है। बागी तेवर दिखाते हुए आशीष यादव ने सपा के लिए एटा में भारी दिक्कते खड़ी कर दी है और उनके इस कदम से सपा में अंदरुनी कलह खुलकर सामने आ गयी है। मंच से अपने सैकड़ों सर्मथकों के सामने आशीष यादव ने निर्दलीय चुनाव लड़ने के साथ ही समाजवादी पार्टी पर जमकर भड़ास निकाली। उनके निर्दलीय चुनाव लड़ने के ऐलान से सपा के घोषित प्रत्याशी जुगेन्द्र सिंह यादव की राह और भी मुश्किल कर दी है जिसका पूरा फायदा भाजपा को मिलेगा। मुलायम और शिवपाल गुट के आशीष यादव ने मंच से अपने सैकड़ो सर्मथकों के सामने ऐलान किया कि मुलायम द्धारा अखिलेश को भेजी गयी 38 लोगों की सूची में उनका नाम था लेकिन रामगोपाल ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को गुमराह कर उनकी टिकट कटवा दी। इसके लिए उन्होंने सीधे सीधे राम गोपाल यादव को दोषी ठहराते हुए कहा कि उन्हें अब रामगोपाल और अखिलेश यादव की जरुरत नहीं है जनता उन्हें चुनेगी और इस चुनाव में सपा को भारी नुकसान होगा। उन्होने राम गोपाल यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि सपा का कॉंग्रेस से गठबंधन हो चुका था लेकिन राम गोपाल को लगा कि बीजेपी उनपर शिकंजा कस चुकी है तो उन्होंने कॉंग्रेस से भी गठबंधन तुड़वाने का काम किया।
'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.