Header Ads

समाजवादी पार्टी के अखिलेश यादव बने राष्ट्रीय अध्यक्ष,मुलायम सिंह बने संरक्षक और अधिवेशन को भी बताया असंवैधानिक

लखनऊ-
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव समाजवादी पार्टी के नये राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे जबकि सपा के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव को पद से हटा दिया गया है। सपा के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव की ओर से बुलाये गये आपातकालीन राष्ट्रीय अधिवेशन में स्वयं रामगोपाल ने कई महत्वपूर्ण प्रस्ताव रखे, जिन्हें सर्वसम्मति से पारित किया गया। मुलायम ने हालांकि पत्र जारी कर इस अधिवेशन को अवैध और असंवैधानिक करार दिया था। उन्होंने कहा कि अधिवेशन में शामिल होने वालों के खिलाफ अनुशासनहीनता की कार्रवाई की जाएगी।  
रामगोपाल ने अखिलेश को सपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव रखा, जिसे अधिवेशन ने मंजूर किया। अधिवेशन ने मुलायम सिंह यादव को सपा का संरक्षक बनाने के प्रस्ताव पर मुहर लगायी तो राज्यसभा सांसद अमर सिंह को बाहर का रास्ता दिखा दिया। 
अधिवेशन में सपा के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल को पद से हटाने के प्रस्ताव को भी स्वीकृति प्रदान कर दी गई। अधिवेशन में मौजूद प्रतिनिधियों ने उत्साह के साथ इन प्रस्तावों का समर्थन किया और हाथ उठाकर समर्थन जताया।
नेताजी का सम्मान पहले से ज्यादा करेंगे
अधिवेशन में अखिलेश ने कहा कि वह पिता मुलायम का जितना सम्मान पहले करते थे, उससे कई गुना ज्यादा सम्मान आगे करेंगे। अगर नेताजी के खिलाफ साजिश हो और पार्टी के खिलाफ साजिश हो तो नेताजी का बेटा होने की वजह से मेरी जिम्मेदारी बनती है कि ऐसे लोगों के खिलाफे हम खड़े हों। पार्टी का जहां नुकसान होगा वहां कार्रवाई करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि कुछ ताकतें ऐसी हैं जो चाहती हैं सपा की सरकार ना बनने पाये। लेकिन सरकार जब बनेगी और बहुमत आएगा तो सबसे ज्यादा खुशी नेताजी को होगी।
अधिवेशन में पारित प्रस्ताव

अखिलेश यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया
मुलायम सिंह यादव को पार्टी संरक्षक बनाया गया
शिवपाल सिंह यादव को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाया गया
अमर सिंह को सपा से बाहर निकाला गया
मुलायम-शिवपाल ने की बैठक
इससे पहले शिवपाल सिंह यादव ने सुबह मुलायम के आवास पर पहुंचे। दोनों नेता रामगोपाल यादव द्वारा बुलाए गए आपातकालीन राष्ट्रीय प्रतिनिधि सभा में नहीं गए। इसी बीच खबर आई कि शिवपाल ने देवरिया, कुशीनगर, आजमगढ़ और मिर्जापुर की सपा जिला ईकाई भंग कर दी है। 
वहीं सपा के राष्ट्रीय अधिवेशन के शुरू होने के थोड़ी ही देर बाद सपा मुखिया ने पत्र जारी करके कहा कि आज रामगोपाल यादव द्वारा तथाकथित अधिवेशन बुलाया गया है। यह पार्टी के संविधान और अनुशासन के विरुद्ध है। यह पार्टी को क्षति पहुंचाने के लिए बुलाया गया है। उन्होंने कहा कि इस सम्मेलन में शिरकत को अनुशासनहीनता माना जाएगा और सम्मेलन में जो भी जाएगा, उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।
'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.