Header Ads

सपा से अतीक की छुट्टी,ओवैसी की पार्टी से चुनाव लड़ने का कयाश में अतीक अहमद

लखनऊ-
सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव को 403 प्रत्याक्षियों की लिस्ट सौंपी थी,अतीक अहमद का नाम नही है,सूत्रों के अनुसार मुलायम सिंह को जो लिस्ट अखिलेश यादव ने सौंपी है उसमे कानपुर की कैंट विधानसभा सीट से घोषित किए उम्मीदवार अतीक अहमद का नाम नही था जबकि सपा नेता अतीक अहमद का कहना है की मेरा नाम काटना सिर्फ मीडिया की बयानबाज़ी है असल में अभी तक लिस्ट सामने नही आई है,


सपा नेता अतीक अहमद ने कहा कि मीडिया सिर्फ कयास लगा रही है कि मेरा नाम काटा गया है। यदि टिकट नहीं मिलता है तो भी वह चुनाव लड़ेंगे प्रश्र पर सपा के कानपुर के कैंट विधानसभा के प्रत्याशी अतीक अहमद ने कहा कि जनता कहा मानने वाली है जनता उन्हें चुनाव लड़ाना चाहती है इसलिए वह चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि वह मस्जिद के मौलवी नहीं है। वह अवश्य चुनाव लड़ेंगे। टिकट वितरण पर निर्णय पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव को करना है और अंतिम सूची भी मुलायम सिंह यादव ही जारी करेंगे।
ऐसे में कयास यह लगाया जा रहा है की अगर सपा से अतीक अहमद को टिकट नही मिलता है तो वो AIMIM से चुनाव लड़के के बारे में सोच सकते है. सीएम अखिलेश यादव ने बाहुबली मुख्तार अंसारी के भाई के साथ अतीक अहमद को भी झटका दिया है। सीएम अखिलेश ने सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव को जिन 403 उम्मीदवारों की सूची सौंपी है उसमे से पूर्वांचल के कई बाहुबलियों का नाम शामिल है जिसमे अतीक अहमद भी है। इन सभी लोगों को शिवपाल यादव ने ही प्रत्याशी बनाया है।
सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव एक बार फिर धर्म संकट में फंस गये हैं। मुलायम सिंह यादव के भाई व सपा के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने टिकटों की सूची जारी की है जिसमे कई ऐसे प्रत्याशियों को टिकट दिया गया है जिन्हें सीएम अखिलेश यादव पसंद नहीं करते हैं जबकि सीएम अखिलेश यादव ने सपा सुप्रीमो को जो सूची सौंपी है उसमे कई ऐसे नाम काट दिये गये हैं जो शिवपाल यादव के खास माने जाते हैं। ऐसे में मुलायम सिंह यादव के सामने एक बार फिर धर्म संकट आ गया है। वह किसी सूची के अंतिम रूप देते हैं इस पर सभी की निगाहे लगी हुई है। पिछले काफी समय से सपा कुनबे की कलह एक बार फिर सतह पर आ गयी है। इस बार देखना है कि सीएम अखिलेश यादव या फिर शिवपाल यादव में से किसे हार व जीत मिलती है।
सपा से अगर अतीक अहमद को टिकट नही मिलता है तो वो AIMIM से चुनाव लड़ने के बारे में सोच सकते है
'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.