Header Ads

उत्तराखंड चारधाम राजमार्ग विकास कार्यक्रम के तहत कुल 900 किमी सड़कों का निर्माण होगा , जिनके द्वारा उत्तराखंड के पवित्र तीर्थों को जोड़ा जायेगा

देहरादून-
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड के सबसे महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट ऑल वेदर रोड का शुभारम्भ किया। ये वही प्रोजेक्ट है जो सीधे तौर पर देश के तमाम ऐसे लोगों से जुड़ा है जो उत्तराखंड में चारधाम यात्रा के लिए आते हैं। पीएम मादी देहरादून में रैली कर रहे हैं। नोटबंदी के बाद पीएम मोदी की उत्तराखंड में यह पहली रैली है। तो आईए जानते हैं कि पीएम मोदी ने क्‍या कहा
सरकार में एक ड्राइवर, क्लर्क, टीचर की नौकरी के लिए ग्रीन कलर के नोट पर गांधी जी चाहिए। इसके लिए इंटरव्यू की क्या जरूरत थी?देश को काले धन ने भी बर्बाद किया और काले मन ने भी बर्बाद किया।आपने मुझे चौकीदार का काम दिया है। मैं चौकीदारी कर रहा हूं तो कुछ लोग परेशान हैं। मैंने कहा कि चार किस्त की बात मान लीजिए तो मैं पुराना पैसा भी दे दूंगा। मैं जवानों को सलाम करता हूं कि उन्होंने सरकार की बात मानी और वन रैंक वन पेंशन का ऐलान हो गया। साल से हमारी सेना के जवान वन रैंक वन पेंशन की मांग कर रहे थे। चुनाव आया तो सरकार ने बजट में 500 करोड़ रुपया डाल दिया। यह सेना के जवानों की आंखों में धूल झोंकने का काम हुआ।3 साल में 5 करोड़ गरीब परिवारों को गैस कनेक्शन देंगे। अब लोगों को मिजाज बदला है, सरकार बदली है, देश भी बदलेगा। 6 हजार गांव में जल्द पहुंचेगी बिजली। हमने तीन साल के अंदर 5 करोड़ गरीब परिवारों को गैस चूल्हा देने का बीड़ी उठाया।कांग्रेस के बड़े अधिवेशन में घोषणा यह हुई कि अगर उनकी सरकार बनेगी तो एक साल में 9 की जगह पर 12 सिलिंडर दे देंगे।पहले गैस का सिलिंडर लेने के लिए नेताओं के घर के आस-पास चक्कर काटने पड़ते थे।बिजली पहुंचाने का काम गरीबों के हक के लिए हो रहा है।हमने संकल्प किया कि 1000 दिन में 18,000 गांवों में पहुंचाएंगे।हम विकास की नई ऊंचाइयों पर जाना चाहते हैं। आजादी के 70 साल बाद भी 18000 गांव ऐसे थे जिनमें बिजली नहीं थी।2014 में जब इस मैदान में आया था तो एक बात कही थी, 'पहाड़ा का पानी और जवानी पहाड़ को कभी काम नहीं आती', मैंने इस कहावत को बदलना ठान लिया है।जब भी आप चारधाम की यात्रा पर आएंगे, गडकरी जी को याद करेंगे।सीमेंट, डामर, बालू से ज्‍यादा सड़क बनाने में पसीना लगता है।चार धाम महामार्ग विकास परियोजना से लोगों को रोजगार मिलेगा।आज यहां जिस प्रकल्प का शिलान्यास हुआ है, यह उन हजारों लोगों को श्रद्धांजलि है जो केदारनाथ के हादसे में जान गवां दी थी। आधा मैदान खाली था, तब आपने लोगों को धूल चटा दी थी। यह देवभूमि है, वीरों की भूमि है, वीर माताओं की भी भूमि है। देवभूमि वीर माताओं की भूमि है। बड़ी संख्या में माताएं मुझे आशीर्वाद देने आई हैं। जब 2014 में लोकसभा का चुनाव था। मैं पीएम का उम्मीदवार था। उस समय आधा मैदान भी नहीं भरा था। आज क्या कारण है?उत्तराखंड विकास का इंतजार नहीं करना चाहता। 
'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.