Header Ads

मेरठ इंजीनियर के ठिकानों पर आयकर के छापे से हड़कम्प,15 लाख की नई करेंसी बरामद

मेरठ-
देश में काला धन पर शिकंजा कसने का प्रधानमंत्री का अभियान रंग ला रहा है। आयकर विभाग की दो टीम ने आज उत्तर प्रदेश में सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता के गाजियाबाद तथा मेरठ के ठिकानों पर छापेमारी की।

आयकर के जॉइन्ट डायरेक्टर एमके जैन ने बताया सुबह 8.30 बजे से कार्रवाई की गई। 15 लाख की नई और 5 लाख की पुरानी करेंसी सरकारी आवास से मिली है। अभी छपेमारी चल रही है नोट के नंबर लिए जा रहे हैं। नोट बंदी के बाद पहली बार मेरठ में कार्यवाही में इंजीनियर के सरकारी आवास, निजी आवास और बैंक खातों को खंगाला गया। अभी तक आयकर विभाग के अधिकारी इस छापे के बारे में कुछ भी कहने से बच रहे हैं। आज सुबह आयकर विभाग की एक टीम ने हजारी के प्याऊ पर सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता आरके जैन के सरकारी आवास ए-6 पर सुबह 9.30 बजे धावा बोला। उनके घर के कोने-कोने को खंगालने का काम चला। घर में एक बड़ी आलमारी की चाबी न मिलने पर नकली चाबी बनाने वाले को भी बुलाया गया। बताया जाता है कि इस आलमारी में तीन लॉकर तो मिले, लेकिन केवल कपड़े ही थे।

इसके साथ ही एक अन्य टीम जैन के बैंक खातों को खंघालने शिवपुरी में सिंडिकेट बैंक की शाखा पहुंची। मेरठ में छानबीन की अगुवाई आयकर विभाग के डिप्टी डायरेक्टर अन्वेषण राजेश कुमार कर रहे हैं। आयकर विभाग की दूसरी टीम डिप्टी डायरेक्टर योगेश नैय्यर की अगुवाई में गाजियाबाद के वसुंधरा स्थित आरके जैन के निजी आवास पर छानबीन में जुटी हुई है। अभी तक छानबीन में कुछ ठोस बरामदगी की सूचना नहीं मिली है। आयकर विभाग के अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं। जैन के पुत्र की एक कंपनी को लेकर भी संदेह जताया जा रहा है।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.