Header Ads

डीएम ने कहा नही सुधरा बेसिक शिक्षा विभाग तो कराऊंगा स्टिंग ऑपरेशन

वाराणसी-
जिलाधिकारी विजय किरन आनंद ने बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में भ्रष्टाचार की सूचना मिलने की सूचना को गम्भीर प्रकरण बताते हुए किसी भी समय स्टिंग आपरेशन कराये जाने की चेतावनी दी। जिलाधिकारी के तल्ख तेवर से विभागीय अधिकारी/कर्मचारियों सन्न रह गये और महकमे में सियापा छा गया। हुआ यूं कि बुधवार को डीएम बेसिक शिक्षा कार्यालय का औचक निरीक्षण कर रहे थे। निरीक्षण के दौरान उन्होने मौके पर मौजूद अधिकारी/कर्मचारियों का बताया कि उनके कार्यालय में भ्रष्टाचार के बाबत शिकायते प्रायः मिल रही है। अपने कार्य संस्कृति में सुधार लाये अन्यथा किसी भी समय स्टिंग आपरेशन कराकर भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारी/कर्मचारी को जेल भेजा जायेगा। फिर क्या था, मौके पर मौजूद अधिकारी/कर्मचारी सिर झूकाये सन्न खड़े रहे। जिलाधिकारी विजय किरन आनंद ने निरीक्षण के दौरान जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय के एक ही पटल पर तीन वर्षो से अधिक अवधि से जमे 7 बाबूओ सहित बेसिक शिक्षा के लेखाधिकारी कार्यालय के बाबू मनोज मिश्रा का भी पटल परिवर्तीत करा दिया। उन्होने लेखाधिकारी को भी अपनी कार्य संस्कृति बदलने हेतु 15 दिन की मोहलत देते हुए कहॉ कि 15 दिन बाद पुनः औचक निरीक्षण करूगा और यदि सुधार नही हुआ, तो कड़ी कार्यवाही अवश्य किया जायेगा।

उन्होने विशेष रूप से जोर देते हुए कहॉ कि उनकी अध्यक्षता में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, लेखाधिकारी एवं मुख्य कोषाधिकारी की संयुक्त बैठक अध्यापक संघ के पदाधिकारियो एवं खण्ड शिक्षा अधिकारियो के साथ प्रत्येक माह में एक बार होगी। उन्होने अध्यापको के किसी भी प्रकार के अवकाश या समस्या की जानकारी आनलाइन प्राप्त करने तथा उसका निस्तारण प्राथमिकता के आधार पर तत्काल् किये जाने का निर्देश दिया। लेखाधिकारी कार्यालय के निरीक्षण के दौरान अध्यापको का समायोजन, स्थानान्तरण सहित जू0हा0स्कूल के मान्यता की पत्रावली बिना किसी कारण, टिप्पणी/नोटिग के ही लम्बित पड़े होने पर जिलाधिकारी ने गहरी आपत्ति जतायी तथा पटल सहायक मनोज मिश्रा को कड़ी फटकार लगाते हुए पटल परिवर्तीत कर दिया। उन्होने विशेष रूप से जोर देते हुए कहॉ कि अध्यापको एवं शिक्षा कर्मियों के हर समस्या का समाधान प्राथमिकता पर सुनिश्चित किया जाय, इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही या उत्पीड़न कत्तई बर्दास्त नही किया जायेगा। शिक्षा ग्रह योजना की समीक्षा के दौरान उन्होने इसके प्रचार-प्रसार हेतु कार्यालय में इसे डिस्पले करने का निर्देश दिया। साथ ही प्रत्येक दिवस कम से कम 250-300 अध्यापको की उपस्थिति चेक किये जाने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी के निरीक्षण के दौरान जिला बेसिक शिक्षा कार्यालय में अफरा-तफरी का माहौल रहा और अधिकारी/कर्मचारी हलकान रहे। उन्होने बेसिक शिक्षा कार्यालय में व्याप्त गंदगी पर भी नाराजगी जतायी तथा साफ-सफाई सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश दिया। उन्होने सहायक लेखाधिकारी पंचायत, डीडीओ, मुख्य कोषाधिकारी एवं डीजीसी सिविल की संयुक्त टीम बनाकर बेसिक शिक्षा कार्यालय के सभी पटल के कार्यो की जॉच सहित लेखा संबंधी भुगतान की जॉच कर रिर्पोट उपलबध कराये जाने का निर्देश दिया

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.