Header Ads

बुलंदशहर गैंगरेप पीड़ित परिवार ने छोड़ा घर, पिता ने पुलिस को दिया खुदकुशी का अल्टीमेटम नोएडा

बुलंदशहर-
गैंगरेप का पीड़ित परिवार शर्मिंदगी और लोक लाज के कारण खोड़ा स्थित घर छोड़ दिया। पीड़िता किशोरी के पिता जो ओला कैब चालक हैं, उन्होंने बताया कि घटना के बाद जब वह यहां पहुंचे तो उनकी हिम्मत नहीं हुई कि वह घर जाएं।

घर जाकर वह अपने पड़ोसियों से आंख कैसे मिलाएंगे। इतना ही नहीं इस घटना के बाद जब वह अपने एक दोस्त के घर गए तो उनके दोस्त ने उन्हें व उनके परिवार को अपने घर पर पनाह देने से साफ इनकार कर दिया।

हालांकि मौजूदा समय में वह अपने एक जानने वाले के यहां ही रुके हैं। घटना से सहमी उनकी बेटी ने दो दिन से खाना नहीं खाया, उसकी हालत काफी गंभीर है।
‘मुझे मारने की धमकी देते रहे और इज्जत लूटते रहे’

पिता का कहना है कि बेटी नौवीं क्लास में पढ़ती है। इस घटना के बाद उन्होंने बेटी की पढ़ाई छुड़ा दी। बेटी कराटे चैंपियन है, मगर उन दरिंदों के सामने वह इसलिए उनका विरोध नहीं कर सकी क्योंकि पूरे परिवार को बदमाशों ने गनप्वाइंट पर ले रखा था।

वह खुद भी इतनी हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं कि वह अपनी पत्नी और बेटी से आंख मिला सकें। उनके सामने उनकी बेटी व पत्नी की इज्जत को लूटा जा रहा था और वह कुछ भी नहीं कर सके।

‘मुझे मारने की धमकी देते रहे और इज्जत लूटते रहे’
पीड़ित ओला कैब चालक ने बताया कि दो बदमाशों ने जिसमें एक का नाम असलम था, उन्होंने बड़े भाई, भतीजे व उन्हें गनप्वाइंट पर ले रखा था। वहीं गनप्वाइंट पर बदमाशों ने उनकी पत्नी व बेटी को ले रखा था।
'बेटी की चीख सहन नहीं हुई तो बदमाशों से बोला मुझे मार डाले'

बेटी ने जैसे ही बदमाशों का विरोध किया तो उन्होंने उसके पिता की हत्या करने की धमकी दी। पीड़ित ने बताया कि उन्हें मारने की धमकी दे कर उनकी पत्नी व बेटी की वह दरिंदे इज्जत लूटते रहे।

बेटी चीख रही थी। बेटी की चीख सहन नहीं हुई और मैने बदमाशों से बोल दिया कि वह मुझे मार डाले। मगर बदमाश लोहे की रॉड से पिटाई कर रहे थे। बदमाशों से पानी मांगा तो उन्होंने लोहे की रॉड से उनकी जमकर पिटाई की।

ट्रैक्टर लाने को बोला और भाग गए बदमाश
पीड़त का कहना है कि बदमाशों ने उन्हें, उनके बड़े भाई और भतीजे को एक तरफ गनप्वाइंट पर ले रखा था। वहीं दूसरी ओर खेत के भीतर बदमाश उनकी कार ले गए और पत्नी व बेटी के साथ रेप किया।

हालांकि उनकी भाभी ने बदमाशों का विरोध किया तो बदमाशों ने उन पर भी वार कर दिया। घटना को अंजाम देने के बाद बदमाशों ने उनसे बोला कि वह उनकी कार खेत में से निकाल देंगे जिसके लिए वह ट्रैक्टर लेने जा रहे हैं।

यह बोल कर सात बदमाशों में से 6 चले गए। वहीं एक बदमाश असलम भी थोड़ी देर बाद निकल गया। बदमाशों के जाने के करीब 10 मिनट बाद जब उन्हें अहसास हुआ कि बदमाश फरार हो चुके हैं तब अपनी बेटी-पत्नी व भाभी को गाड़ी में बैठाया।

बदमाशों ने उनकी सारी नगदी, सोने के आभूषण लूट लिए थे। हालांकि बदमाश उन सब के मोबाइल छीने थे मगर जाने से पहले वह कार में ही छोड़ कर फरार हो गए।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.