Header Ads

नोएडा सेलटैक्स के डिप्टी कमिश्नर की बेटी ने कानपुर में किया सुसाइड

कानपुर-
नोएडा वाणिज्यकर विभाग के डिप्टी कमिश्नर की बेटी कानपुर के नवाबगंज स्थित एक अपार्टमेंट में खुदकुशी कर ली। उसका शव अपार्टमेंट में फांसी के फंदे से संदिग्ध परिस्थितियों में लटकता मिला तो हड़कंप मच गया। वह रामा डेंटल कॉलेज में (MDS) अंतिम वर्ष की छात्रा थी।

बद्री प्रसाद शर्मा नोएडा वाणिज्यकर विभाग में बतौर डिप्टी कमिश्नर के पद पर कार्यरत हैं। उनकी बेटी प्रियंका (23) कानपुर स्थित रामा डेंटल कालेज से (MDS) की पढ़ाई कर रही थी। प्रियंका का इस साल फाइनल ईयर था। प्रियंका नवाबगंज स्थित चिड़ियाघर के सामने बने एक अपार्टमेंट में किराए पर रहकर पढ़ाई कर रही थी।

संदिग्ध परिस्थितियों में लटकता मिला शव।

शनिवार सुबह मेडिकल छात्रा प्रियंका का शव फांसी के फंदे से लटकता मिला तो अपार्टमेंट में हड़कंप मच गया। मौका-ए-वारदात पर पुलिस जब पहुंची तो प्रियंका फांसी के फंदे से लटकने के बजाय तख्त पर बैठी मिली। उसके गले में फंदा था। सामान्यतः खुदकुशी करने वाले का शव लटकता मिलता है। दोपहर बाद कानपुर पहुंचे परिजनों की मौजूदगी में पुलिस ने शव का विच्छेदन कराया।

अपार्टमेंट में अक्सर आते थे संदिग्ध युवक।

अपार्टमेंट के गार्ड समेत तमाम लोगों ने बातचीत में खुलासा किया कि प्रियंका के अपार्टमेंट में अक्सर संदिग्ध युवकों का आना-जाना रहता था। कई बार यह युवक रात में रुकते भी थे। देर रात तक युवक कई बार नशेबाजी करते भी मिले। पड़ोसियों की मानें तो प्रियंका की फ्रेंड सर्किल ठीक नहीं थी। शायद यही वजह थी कि पिछले करीब छह महीने से प्रियंका की मां आशा शर्मा भी अक्सर आकर यहां रुकने लगी थीं। मौके पर पहुंची पुलिस को छानबीन में कोई सुसाइड नोट नहीं मिला।

10 दिन पहले सहेली ने भी किया था सुसाइड।

प्रियंका की मौत कई पहेलियां छोड़ गई है। छानबीन में पुलिस को पता चला है कि करीब 10 दिन पहले कल्याणपुर में रहने वाली प्रियंका की एक सहेली ने खुदकुशी कर ली थी। वह भी रामा डेंटल कालेज में फाइनल ईयर की छात्रा थी। 10 दिन के अंदर कालेज के दो मेडिकल छात्राओं की खुदकुशी से हड़कंप का माहौल है। पुलिस खुदकुशी के इस हाईप्रोफाइल मामले में सहेली की खुदकुशी के बिन्दु पर भी छानबीन कर रही है।

खुदकुशी के पीछे कहीं कोई बड़ा रैकेट तो नहीं।

महज 10 दिनों के अंदर मेडिकल की पढ़ाई कर रही दो छात्राओं की खुदकुशी के बाद तमाम तरह के सवाल उठ रहे हैं। दबी जुबान से ही सही लेकिन लोग तरह-तरह की चर्चाएं कर रहे हैं। आशंका जाहिर की जा रही है कि कहीं किसी बड़े रैकेट के जाल में फंसकर कहीं प्रियंका और उसकी सहेली ने तो जान नहीं दे दी। हालांकि जिस तरह से संदिग्ध परिस्थितियों में प्रियंका का शव मिला उससे प्रथम दृष्टया उसकी हत्या कर शव लटकाए जाने की ही चर्चा रही लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में प्रियंका की मौत की वजह हैंगिग निकली। इसके बाद नवाबगंज पुलिस ने भी राहत की सांस ली।

परिवार की जुबान पर लगा रहा ताला।

प्रियंका के खुदकुशी की खबर पर पिता बीपी शर्मा, मां आशा शर्मा और भाई प्रशांत व कुछ शुभचिंतक व रिश्तेदार कानपुर पहुंचे। पोस्टमार्टम के दौरान मीडिया के लोगों ने परिजनों से बातचीत करनी चाही लेकिन सभी खामोश रहे। कई बार सवालों से झल्लाकर परिजनों ने अभद्रता करने की भी कोशिश की।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.