Header Ads

लखनऊ मौर्या को ले डूबे उनके बेटी और दामाद!

लखनऊ। स्वामी प्रसाद मौर्य ने 22 जुलाई को बसपा से किनारा कर लिया। स्वामी प्रसाद ने कहा कि, उन्होंने पार्टी इसलिए छोड़ी है क्योंकि बसपा में सिर्फ पैसों के दम पर टिकट की नीलामी की जाती है। वहीं, बसपा सुप्रीमो ने कहा कि, स्वामी प्रसाद ने पार्टी छोड़कर हम पर उपकार किया हैं, नहीं तो हम उनको खुद ही पार्टी से निकाल देते। इन सबके बीच मीडिया में एक खबर चल रही है कि, स्वामी ने इसलिए पार्टी से इस्तीफा दिया, क्योंकि वह अपने दामाद के लिए विधानसभा टिकट चाहते थे।
बताया जा रहा है कि, उनके दामाद नवल किशोर, जिनकी मांग काशगंज के पटियाली सीट से चुनाव लड़ने की थी। मायावती ने पहले ही बता रखा था कि, वे केवल उन्हें ही चुनाव का टिकट देंगी न की उनके परिवार के सदस्यों को। सिर्फ इतना ही नहीं, उन्होंने पडरौना के टिकट की मांग को भी निरस्त किया था। जहां से उन्होंने पहले चुनाव जीता था।

बसपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्या ने भले ही 22 जुलाई को पार्टी छोड़ दी लेकिन यह पहले से तय नहीं था। सूत्रों के मुताबिक, उन्होंने पार्टी अध्यक्ष मायावती के टिकट देने से मना करने पर पार्टी को छोड़ा है। इसके अलावा वे 2017 के चुनाव में पुत्र व पुत्री को भी मैदान में उतारना चाहते थे। 

उनके दामाद के जबरजस्ती करने पर उन्होंने एक बार फिर 22 जून को इस पर बात की। जिस पर मायावती क्रोधित हो गईं और कहा कि ये पार्टी उनके परिवार के किसी भी सदस्य को टिकट नहीं देगी। मायावती की इस प्रतिक्रिया का मौर्या को बिलकुल भी अंदाजा नहीं था। जिसके विरोध में उन्होंने पार्टी त्याग दी।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.