Header Ads

लखनऊ सपा को मेरी सलाह है कि अपराधी किस्म के मंत्रियों को जेल भेजे-मायावती

लखनऊ-उत्तर प्रदेश की बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने आज पार्टी कार्यालय में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित किया। अपने 15 मिनट की प्रेस कांफ्रेंस में मायावती 80 फीसदी बीजेपी अौर सपा पर बोला। मायावती ने बीजेपी और सपा पर निशाना साधते हुए कहा कि मुजफ्फरनगर, कैराना अौर दादरी मामले के पीछे सपा और बीजेपी का हाथ है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता गुंडों से परेशान है। पुलिस की भी जान जा रही है। लेकिन सरकार संवेदंशील होने की जगह पैसे देकर अपने कर्तव्य से मुक्त हो जाती हैं। इस प्रदेश में जब पुलिस सुरक्षित नहीं है तो जनता कैसे सुरक्षित रहेगी। जनता अपने जान मान को लेकर काफी चिंतित है। राज्यपाल और केंद्र को अपनी जिम्मेदारी निभाहानि चाइये। नहीं तो प्रदेश की जनता चुनाव में बीजेपी और सपा को माफ नहीं करेगी। अभी हाल ही में सपा ने मुख़्तार को पहले शामिल कर डीपी यादव की तरह बहार किया। ये खेल अपने मुखिया की छवि साफ करने के लिए किया। लेकिन जनता उनके बहकावे में आने वाली नहीं है।

उन्होंने कहा कि सपा को मेरी सलाह है कि अपराधी किस्म के मंत्रियों को जेल भेजे। पुलिस एेसा नहीं करेंगी,क्योंकि जेलों में इतनी जगह नहीं है। प्रदेश की जनता इनकी किस्म-किस्म की ड्रामेबाजी से भ्रमित नहीं होने वाली। सपा के लोग अपना अस्तितव बचने में लगे है।

वहीं बीजेपी पर गुस्सा निकालते हुए कहा कि भी बीजेपी ने भी यूपी के लिए कुछ नहीं किया। अच्छे दिन के सपने लाने का झांसा दिया था। कालाधन लेन को कहा था लेकिन कुछ नहीं किया। जनता जानना चाहती है कि कला धन क्यों नहीं ला पाये। जनहित से जुड़े वादे पूरे नहीं किये।

बसपा ने जनता से अपील कि की वो अब भाजपा के लोक लुभावन वादों के फेर में न पड़े। अच्छी कानून व्यवस्था के बिना प्रदेश का विश्वास संभव नहीं है। वो यहां कानून व्यवस्था पर बात नहीं करती। बीजेपी जब दिल्ली में कानून व्यवस्था को नहीं संभल पा रही तो इतने बड़े यूपी को कैसे संभल पायेगी।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.