Header Ads

ब्‍लू फिल्‍म दिखाकर डायरेक्‍टर करता था अश्‍लील हरकतें, फोटो वायरल

पीड़ित लड़की ने बताया डायरेक्‍टर की करतूत।

बुलंदशहर-
लक्ष्मी अल्प आवास नारी संरक्षण गृह में संवासनियों के शोषण के मामले में आश्‍चर्यचकित कर देने वाला मामला सामने आया है। इस मामले में गिरफ्तार डायरेक्‍टर का एक फोटो वायरल हुआ है जिसमें वह संरक्षण गृह के एक लड़की के साथ आपत्‍तिजनक हालत में है। यही नहीं, आरोप है आरोपी का पूरा परिवार इसमें शामिल था। ब्‍लू फिल्‍म बनाकर करता था अश्‍लील हरकतें…
-पीड़ित लड़की ने बताया है कि डायरेक्‍टर सचिन वर्मा संवासनियों से शारीरिक संबंध भी बनाता था।
-उसने अल्पावास गृह की एक संवासिनी से खुलेआम अश्‍लील हरकतें करता था, जो जहांगीराबाद सिटी की निवासी है।
-वह उसे सरेआम चूम लिया करता था और कभी भी उससे अश्लील हरकतें करता था।
-विरोध करने पर सचिन वर्मा लोहे के रॉड से संवासनियों की पिटाई भी करता था।
-यही नहीं, संवासनियों के परिवार से वह हर महीने खर्च के नाम पर रुपए भी वसूलता था।
डायरेक्‍टर का पिता दिखाता था जापानी तेल
-सचिव वर्मा के पिता और नवदीप एनजीओ के संरक्षण नरेश वर्मा की हरकतों का भी संवासिनी ने खुलासा किया है।
-उसने बताया कि नरेश वर्मा संवासनियों के साथ रजाई में बैठ जाता था और अश्लील हरकतें करता था।
-वह लड़कियों को जापानी तेल की शीशी भी दिखाया करता था।
डायरेक्‍टर की बीबी कराती थी बेगारी
-सचिव वर्मा की पत्नी और शेल्टर होम की वार्डन प्राची वर्मा भी संवासनियों की परदे की रॉड से पिटाई किया करती थी।
-वह अपने घर का काम भी संवासनियों से कराती थी और नौकरानी बनाकर दूसरों के घरों में भेजा जाता था।
-पीड़िता का आरोप है कि दूसरों के घरों में काम के वक्त भी उनका यौन शोषण किया जाता था।
प्रोटेक्‍शन होम की सेविका भी थी शामिल
-प्रशासनिक जांच में शेल्टर होम की सेविका फिरोजा खान का नाम भी सामने आया है।
-संवासिनी के बयानों में फिरोजा की भूमिका अल्पावास में चल रहे इस गोरखधंधे में सबसे अहम है।
-फिरोजा को एक-एक वारदात और संवासिनियों के शोषण की सारी जानकारी है।
-वह संवासनियों के यौन शोषण में एनजीओ संचालक के दाहिने हाथ के तौर पर काम करती थी।
क्‍या कहते हैं पुलिस अफसर
-सिटी मजिस्ट्रेट डीपी सिंह ने बताया है कि जांच के बाद चीजें साफ हो जाएंगी, जो दोषी होगा उस पर पुलिस कार्रवाई करेगी।
-वहीं, एसपी सिटी राममोहन सिंह ने बताया कि किसी भी तरह का दबाब पुलिस के ऊपर नहीं है।
-पूरा केस स्पष्ट है। पूछताछ और बयानों की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और इसका असर भी दो-चार दिन में दिखने लगेगा।
-किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। संवासनियों की सुरक्षा भी सुनिश्चित की जा रही है।
सचिन की मां ने कहा- षड्यंत्र है
-सचिन एन वर्मा की मां हेमा वर्मा ने कहा कि उनके बेटे के खिलाफ बड़ा षड्यंत्र किया जा रहा है।
-ये आपत्तिजनक फोटो भी उसी षड्यंत्र का एक हिस्सा है।
ये है पूरा मामला
-गुलावठी में स्थित लक्ष्मी अल्प आवास नारी संरक्षण गृह से 7 अप्रैल को एक लड़की फरार हो गई थी।
-लड़की जब बरामद हुई तो उसने संरक्षण गृह के निदेशक पर शारीरिक शोषण सहित कई संगीन आरोप लगाए थे।
-लड़की ने पूछताछ में बताया था कि निदेशक ब्लू फिल्म दिखाकर अश्लील हरकते करता था।
-किशोरी के आरोपों के बाद पुलिस ने संरक्षण गृह के निदेशक सचिन एन वर्मा के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कर उसे जेल भेज दिया था।
फोटो वायरल होने के बाद लोगों में फूटा गुस्‍सा
-आरोपी डायरेक्‍टर सचिन एन वर्मा की लड़की के साथ यह आपत्तिजनक फोटो बुधवार शाम को वायरल हुआ था।
-फोटो देखते स्‍थानीय लोगों में गुस्‍सा फूट पड़ा। लोग सड़क पर उतर आए और डायरेक्‍टर का पुतला फूंककर फांसी देने की मांग की।
-इसके अलावा इस मामले में शामिल गृह के अन्य पदाधिकारियों और कर्मचारियों की गिरफ्तारी की मांग की है।
-बताया जाता है कि वायरल फोटो लगभग 2 वर्ष पुराना है।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.