Header Ads

फरार माल्या को गिरफ्तार करने लंदन जायेगी बुलंदशहर पुलिस

बुलन्दशहर

बैंकों के 9 हजार करोड़ रूपए के कर्जदार और राज्यसभा सांसद विजय माल्या को देश की बड़ी जॉच ऐजेंसियां भले ही नही पकड पाई हो। लेकिन आजम खाँ की भैसें तलाशने वाली यूपी पुलिस अब विजय माल्या को तलाशने ब्रिटेन जायेगी। बुलंदशहर सीजेएम कोर्ट के आदेश पर विजय माल्या और किंगफिशर के सीईओ के खिलाफ पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।

बुलंदशहर के को-पायलट आकाश शर्मा ने फरवरी 2006 में डैक्कन एआरलाइंस में को-पायलट के तौर पर ज्वाइन किया था। 2008 में किंगफिशर ने डैक्कन का अधिग्रहण कर लिया और इस अधिग्रहण के बाद पायलट आकाश को दो लाख छब्बीस हजार रूपये प्रति माह तनख्वाह मिलती थी। लेकिन अगस्त 2012 से किंगफिशर ने मंदी और घाटे की नौटंकी करके आकाश और उसके जैसे सैकड़ो कर्मचारियों की तनख्वाह रोक दी गयी। अधिग्रहण के बाद किंगफिशर ने आकाश का टीडीएस तो काटा लेकिन आयकर विभाग में उसे जमा नही किया।

वकील व आकाश के पिता राजेन्द्र प्रसाद शर्मा ने बताया कि चार साल पहले किंगफिशर में पायलट रहे आकाश शर्मा ने 2014 में जब नौकरी छोड़ी तो विजय माल्या की कंपनी पर उनके वेतन का 44 लाख रूपया बकाया था। बुलंदशहर की जिला अदालत में सितंबर-2014 में आकाश शर्मा ने अपने वेतन की वसूली के लिए विजय माल्या के खिलाफ परिवाद डाला। कोर्ट से बाहर हुए सैटलमेंट में आकाश शर्मा आधा वेतन लेने पर राजी हो गये। लेकिन किंगफिशर ने यह वायदा किया कि टीडीएस का 9 लाख रूपया कंपनी आयकर विभाग में जमा करेगी। लेकिन तय शर्तो और वक्त के बाबजूद किंगफिशर ने वादाखिलाफी की और टीडीएस की रकम इनकम टैक्स विभाग को नही दी। पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर केस दर्ज कर लिया है और अब तफ्तीश के लिए लंदन जाने का मन बनाये बैठी है।

एसपी सिटी राममोहन सिंह ने बताया कि सीजेएम कोर्ट के आदेश के बाद आज नगर कोतवाली पुलिस ने विजय माल्या के खिलाफ धोखाधडी की धारा 420 व 406 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया है। मामले की जांच कमलेश शुक्ला को दी गयी है। एक परिवेक्षक अधिकारी के नेतृत्व में लंदन जाने के लिए आधा दर्जन लोगों की टीम गठित की जा रही है। राज्य सरकार, विदेश मंत्रालय और गृहमंत्रालय से संबंधित अनुमतिया प्राप्त करके उचित कानूनी कार्रवाई के लिए यह टीम संकल्पित है।

4 से 7 लोगों की होगी टीम-
एसपी सिटी राममोहन सिंह ने बताया कि विजय माल्या को पकडने के लिए टीम के गठन पर विचार किया जा रहा है। टीम के सदस्यों के लिए एक प्रारूप तैयार किया गया है ऊपर से स्वीकृति मिलने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने बताया कि विजय माल्या को पकडने वाली टीम में 4 से 7 सदस्यों को रखा जायेगा।

एसएसपी या एसपी सिटी के नेतृत्व में जायेगी पुलिस टीम-
एसपी सिटी राममोहन सिंह ने बताया कि विजय माल्या को पकडने वाली टीम के लिए एक परिवेक्षक अधिकारी को नियुक्त किया जायेगा। बताया कि हो सकता है कि टीम का नेतृत्व एसएसपी पीयूष श्रीवास्तव या फिर एसपी सिटी राममोहन सिंह स्वयम करें। उन्होंने बताया कि विजय माल्या को पकडने वाली टीम की स्वीकृति के बाद टीम 10 दिनों के अन्दर लंदन के लिए रवाना हो जायेगी।

विदेश मंत्राल्य व गृहमंत्रालय से लेनी है स्वीकृति-
एसपी सिटी ने बताया कि विजय माल्या को पकडने लंदन जाने से पहले विदेश मंत्रालय, गृहमंत्रालय, शासन व डीआईजी से स्वीकृति लेने होगी। उन्होंने बताया कि जाने वाली टीम के नामों की स्वीकृति मिलने के बाद विदेश मंत्रालय को लिखा जायेगा। वहां से वीजा की कार्रवाई पूरी होगी।

420, 406 की धाराओं में दर्ज हुआ मुकदमा-
एसपी सिटी ने बताया कि शनिवार को सीजीएम कोर्ट के आदेश के बाद नगर कोतवाली में विजय माल्या के खिलाफ 420 व 406 की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। इस मुकदमें की विवेचना एसएसआई कमलेश शुक्ला को दी गयी है।

6 अक्टूबर 2015 में होना था हाजिर-
पायलेट आकाश ने बताया कि बकाया टीडीएस, वेतन और प्रोवीडेंट फंड की रकम करीब 40 लाख रूपये की मांग को लेकर अदालत में केस दायर किया था। कर्मचारी का टीडीएस लेकर उसे आयकर विभाग में जमा न करना अदालत ने धोखाधडी माना है। एसीजेएम प्रथम उमाकांत जिंदल की अदालत ने किंगफिशर के मालिक विजय माल्या और सीईओ संजय अग्रवाल को पार्टी बनाते हुए उन्हें सम्मन जारी कर दिया था। विजय माल्या और संजय अग्रवाल को बुलंदशहर के एसीजेएम कोर्ट में 6 अक्टूबर, 2015 में हाजिर होना था।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.