Header Ads

बुलन्दशहर में इतना हंगामा क्यो? आखिर क्या गलत किया DM ने?

बुलन्दशहर-
एक सेल्फी को लेकर डीएम बी. चंद्रकला फि‍र चर्चा में हैं। एक युवक ने उनके साथ जबरन सेल्फी लेने की कोशिश की। जब उसे मना किया गया और कलेक्ट्रेट से बाहर निकाल दिया गया तो उसने हंगामा शुरू कर दिया। उसे शांतिभंग की धाराओं में जेल भेज दिया गया। वहां वह तीन दि‍न रहा। शुक्रवार को आरोपी के परिजनों के नि‍वेदन पर डीएम ने उसे माफ कर दिया। है और फि‍लहाल वह बेल पर रि‍हा हो गया है। क्या था !

पूरा मामला... 


- बुलंदशहर की डीएम बी. चंद्रकला एक फरवरी की शाम अपने ऑफिस में गोद लिए गांव कमालपुर के बारे में मीटिंग कर रही थीं।
ग्रामप्रधान और अफसर मौजूद थे। उनके साथ कुपोषण, शौचालय निर्माण और सड़कों के बारे में चर्चा हो रही थी। तभी एक युवक खुद को उसी गांव का ग्रामीण बताते हुए मीटिंग में पहुंच गया। उसने वहां डीएम के साथ खुद के फोटो खींचने शुरू कर दिए। डीएम ने उसे जब फोटो खींचने से मना किया तो वह नहीं माना! और उसे मीटिंग से बाहर निकाल दिया गया। और उससे जब वो फोटो डिलीट करने को कहा गया तो उसने सुरक्षाकर्मियों से हाथापाई शुरू कर दी और हंगामा करने लगा!
सुरक्षाकर्मियों ने उसे थाने भेज दिया। वहां से उसे शांतिभंग की धाराओं में जेल भेज दिया गया।

डीएम का ट्वि‍टर पर कमेंट

18 साल का एक लड़का अचानक उनके साथ सेल्फी लेने लगा। उससे कहा गया कि‍ बि‍ना परमि‍शन वह ऐसा नहीं कर सकता।
उसे वहां से बाहर ले जाया गया और फोटो डि‍लीट करने को कहा गया तो उसका जवाब था- 'यह मेरा कैमरा है, मेरी मर्जी।'

क्‍या कहते हैं आरोपी के घरवाले !

आरोपी का नाम फरहान है।
उसके चाचा इरफान ने बताया कि हमारे लड़के की गलती थी। उसे ऐसी हरकत नहीं करनी चाहिए थी।
उसे गलती की सजा मिली है, लेकिन डीएम साहब ने उसे माफ कर दिया।
कुछ मीडियकर्मी घर तक पहुंच गए। हमने जो कहा वह मीडिया ने नहीं छापा। अब हमें मीडिया वालों से डर लगने लगा है।

'लेडी सिंघम' तो कभी 'डीएम दीदी'

इससे पहले यूपी के जिन जिलों में चंद्रकला की पोस्टिंग हुई, वहां अपने कामों के लेकर हमेशा चर्चा में रहीं। हमीरपुर में डीएम रहने के दौरान स्कूल की लड़कियां उन्हें 'डीएम दीदी' कहती थीं। वहीं, जब वह मथुरा की डीएम बनीं तो अपने कड़क मिजाज के चलते उनकी पहचान 'लेडी सिंघम' के रूप में होने लगी थी। बुलंदशहर में उन्‍होंने खुलेआम टीचर, अफसर और ठेकेदारों की क्लास ली।

विदेश से ऑनलाइन लिया था चार्ज

पिछले साल 15 अक्टूबर को बी. चंद्रकला का ट्रांसफर बतौर डीएम मथुरा से बुलंदशहर हुआ था। इसके दो दिन पहले वह छुट्टी पर चली गई थीं और उस वक्त दुबई में थीं। चूंकि अखिलेश यादव के आदेश के मुताबिक, हर हाल में रात को ही उन्हें बुलंदशहर डीएम का चार्ज लेना था। इसलिए विदेश में रहते हुए चंद्रकला ने फैक्स और ईमेल के जरिए चार्ज ले लिया था, जो संभवत: देश में अपनी तरह का पहला मामला बताया जाता है।

कौन हैं बी. चंद्रकला

बी. चंद्रकला का जन्म तेलंगाना के करीमनगर जिले में हुआ था। वह 2008 बैच की यूपी कैडर की IAS हैं। उन्होंने सेंट्रल स्कूल से 12वीं पास की। ग्रैजुएशन के लिए हैदराबाद के कोटि वुमन्स कॉलेज में एडमिशन लिया। बी. चंद्रकला के आईएएस बनने का सफर संघर्षों से भरा रहा है। शादी के बाद उन्होंने डिस्टेंस एजुकेशन के जरिए अर्थशास्त्र में पोस्ट ग्रैजुएशन किया। इसके बाद यूपीएससी परीक्षा पास करने के लिए कड़ी मेहनत की और इसे पूरा करके दिखाया। वह 10 साल की बेटी की मां हैं और IAS बनने में उनके पति का रोल काफी अहम बताया जाता है!

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.