Header Ads

मोदी सरकार के आगे झुका पाकिस्तान ,पाक में जैश के आतंकी हिरासत में लिए गए, कार्यालय सील.


विदेश सचिव स्तर की बातचीत का भविष्य पठानकोट आतंकी हमले को लेकर इस्लामाबाद की ‘त्वरित और निर्णायक’ कार्रवाई पर निर्भर होने की बात भारत की ओर से दो टूक कहे जाने के बाद पाकिस्तान ने आज इस हमले की कथित तौर पर साजिश रचने वाले जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े कई व्यक्तियो को हिरासत में लिया और इस संगठन के कार्यालयों को सील कर दिया।
पाकिस्तान अपने एक विशेष जांच दल को पठानकोट भेजने पर भी विचार कर रहा है क्योंकि भारत के सहयोग की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए और सूचना की दरकार होगी।
पाकिस्तान की ओर से यह कार्रवाई उस वक्त की गई है जब भारतीय विदेश सचिव एस जयशंकर के प्रस्तावित बातचीत के लिए इस्लामाबाद जाने में सिर्फ दो दिन बचे हुए हैं। प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की अध्यक्षता में हुई उच्च स्तरीय बैठक में पाकिस्तान की कार्रवाई की समीक्षा की गई है।
भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय समग्र वार्ता की बहाली के लिए विदेश सचिव स्तरीय वार्ता होने वाली है।
भारत का मानना है कि मौलाना मसूद अजहर की अगुवाई वाले जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े आतंकी पठानकोट हमले में शािमल थे। इस हमले में सात भारतीय सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे। मसूद अजहर को कंधार विमान अपहरण के समय छोड़ा गया था।
उच्च स्तरीय बैठक के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान के अनुसार अपनी धरती से आतंकवाद के खात्मे की पाकिस्तान की प्रतिबद्धता तथा कहीं भी आतंकवादी गतिविधियों के लिए अपने क्षेत्र का उपयोग करने नहीं देने के उसके राष्ट्रीय संकल्प के संदर्भ में अब तक की कार्रवाई का संतोष के साथ संज्ञान लिया गया है।
उसने कहा, ‘‘पठानकोट की घटना से कथित तौर पर जुड़े आतंकवादी तत्वों के खिलाफ की जा रही जांच में काफी प्रगति हुई है।’’

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.