Header Ads

अब तक सुहागरात के वक़्त 14 दूल्हों को लूटकर फरार हुई है ये दुल्हन

जयपुर/अजमेर-
कोटा की रहने वाली वंदना अकेले 14 शादियां कर चुकी है। ये शादी के बाद अपने दूल्हे के घर भी जाती थी, सुहागरात के पहले ही सारा कुछ लूटकर चंपत हो जाती है। इसके गिरोह के 14 सदस्य पुलिस के हत्थे चढ़ चुके हैं लेकिन पुलिस अब तक वंदना को नहीं तलाश पाई है।
वंदना के गिरोह के सदस्यों को पुलिस ने सेशन कोर्ट में पेश किया जहां अदालत ने उन्हें एक दिन के रिमांड पर भेज दिया। शादी का झांसा देकर युवकों को ठगने वाले शातिर गिरोह का खुलासा दरगाह थाना पुलिस ने किया है। गिरोह का सरगना नसीराबाद निवासी गफ्फार वंदना के ज़रिये उन ज़रुरतमंदों को फंसाता था, जो शादी के इच्छुक होते थे. इस गिरोह में मध्यप्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ की युवतियों को भी रखा गया था। गिरोह का शिकार होने वाले दो पीडितों ने बताया कि उन्हें गफ्फार ने एक युवती दिखाई। पहले रिश्ता तय हुआ। रिश्ता कराने की एवज में गफ्फार ने दो लाख रुपए भी वसूल किए। फिर शादी हुई। शादी के बाद दुल्हन गहने और घर में रखे रुपए लेकर फरार हो गई। इस गिरोह ने अबतक ऐसी ही 14 वारदातों को अंजाम दिया हैं। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से फर्जी आईडी और शादी तलाक के कई शपथ पत्र भी बरामद किए गए हैं। गिरोह के मास्टरमाइंड नसीराबाद नांदला निवासी गफ्फार के साथ आठ युवतियां और चार अन्य युवकों को पकड़ा गया है। इनके कब्जे से 80 हजार रुपए कैश, सौ से ज्यादा युवक-युवतियों के फोटो और फर्जी आईडी बरामद की गई है।
शातिर गिरोह का ताज़ा शिकार बने कल्याणीपुरा निवासी जानकी लाल ने बताया कि दूर के रिश्तेदार हजारीलाल ने उससे संपर्क कर सुंदर और सुशील लड़की से शादी कराने का वादा किया था। हजारी ने उसे नसीराबाद निवासी गफ्फार से नला बाजार स्थित गेस्ट हाउस में मिलवाया था, जहां गफ्फार के साथ आठ युवतियां और एक महिला भी थी। गफ्फार ने कोमल नामक युवती से उसकी शादी कराने का वादा किया और करीब 1 लाख 70 हजार रुपए की मांग की। सौदा 1 लाख 50 हजार रुपए में तय हुआ। वहां मौजूद दो महिलाओं को कोमल का रिश्तेदार बताया गया। सौदा तय होने के बाद इन लोगों ने आनन-फानन में माला और सिंदूर मंगवा कर वहीं पर शादी की रस्म पूरी कर दी। सभी ने खाना भी खाया और बाद में वह पत्नी कोमल को लेकर घर गया। सुहागरात के मौके पर कोमल ने मासिक धर्म में होने की जानकारी दी, इसलिए दोनों के बीच संबंध नहीं बन पाए। सुबह वह नींद से उठा तो कोमल गायब थी। कोमल उसके दिए हुए सोने-चांदी के जेवर भी साथ ले गई। गिरोह ने उससे डेढ़ लाख नकद और करीब पचास हजार के जेवर ठग लिए। पुलिस के अनुसार आरोपी नसीराबाद नांदला निवासी गफ्फार, खोखरा अहमदाबाद निवासी नीलेश भाई, यवतमाल महाराष्ट्र निवासी आरिफा बी पत्नी रऊफ, इंदौर निवासी डिंपल, हेमा मराठी, अहमदाबाद निवासी रानी पत्नी सागर, लक्ष्मी पत्नी सरजेराव, सुनीता पत्नी आशाराम, कमल पत्नी शिवलिंग, अनिता पुत्री बाबू राव सोनू पुत्री जनक राव को गिरफ्तार किया है।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.