Header Ads

लखनऊ। आगरा-बरेली पैसेंजर ट्रेन के साथ बड़ीअनहोनी होते-होते बची।

लखनऊ-
आगरा-बरेली पैसेंजर ट्रेन के साथ बड़ीअनहोनी होते-होते बची। लोको पायलट की लापरवाही से विशारतगंज क्रॉसिंग पर एक युवक इंजन (लोको) में घुस आया और ट्रेन दौड़ा दी। गनीमत रही, सहायक लोको पायलट (एएलपी) वक्त पर चेत गए और मुश्किल से ट्रेन संभाली। इतना ही नहीं, आरोपी युवक को भी दबोच लिया, मगर वह छूटकर फरार हो गया। रेल अफसर पूरे मामले की लीपापोती में जुटे हैं।सोमवार सुबह 54461 आगरा कैंट पैसेंजर बरेलीलौट रही थी। तीन घंटे देरी से चल रही ट्रेन विशारतगंज स्टेशन के पास पहुंची, तो स्टेशन मास्टर ने इंटरसिटी एक्सप्रेस गुजारने को क्रॉसिंग पर रोक दिया। ट्रेन काफी देर तक वहां खड़ी रही। इसी बीच ट्रेन ड्राइवर (लोको पायलट) एसके राघव स्टेशन मास्टर के पास विभागीय काम से चले गए। लोको में एएलपी दिलीप कुमार मौजूद रहे। कुछ देर बाद एएलपी भी इंजन से उतरकर पेशाब करने लगे। उसी वक्त एक युवक लोको में चढ़ गया। उसने पहले लोको काहॉर्न बजाया। यह सुनकर ट्रेन से उतरे यात्रीतुरंत बोगियों में चढ़ गए। एएलपी भी दौड़कर पहुंचे मगर इसी बीच युवक ने स्टॉर्ट लोको के स्विच एवं उपकरण दबाकर ट्रेन चला दी। यह देख एएलपी के हाथ-पांव फूल गए। उन्होंने बमुश्किल टे्रन संभाली। हालांकि, कुछ दूरी पर इंजन झटके से बंद हो गया। जानकारी होते हीस्टेशन पर खलबली मच गई।...तो जातीं सैकड़ों जानइंटलीजेंस अलर्ट पर रेलवे बोर्ड बार-बार स्टेशन-ट्रेनों में सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश दे रहा है। बावजूद लापरवाही जारी है। अगर कोई आतंकी ट्रेन के लोको में चढ़कर ट्रेन दौड़ाने लगता तो सैकड़ों जान खतरे मेंपड़ जाती।आगरा कैंट पैसेंजर के लोको में मानसिक रोगी चढ़ गया था। उसने ट्रेन चलाने का प्रयास किया, लेकिन उसे फटकार कर भगा दिया।-सत्यवीर सिंह, स्टेशन मास्टर, विशारतगंज-मानसिक रोगी ने लोको में चढ़कर हॉर्न बजाया था, उसे भगा दिया।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.