Header Ads

महिला उत्पीड़न की घटनाओं में कार्यवाही हेतु शासन गम्भीर

मीडिया की खबर के बाद 1090 के प्रभारी को हटाया गया
मामले की जांच आईजी वुमेन पावर लाइन को सौंपी गयी

लखनऊ-
प्रदेश की वर्तमान सरकार महिला उत्पीड़न की घटनाओं में कार्यवाही हेतु अत्यंत गम्भीर है। वुमेन पावर लाइन 1090 के प्रभारी के विषय में आज मीडिया में प्रकाशित खबर को शासन द्वारा अत्यंत गम्भीरता से लिया गया है।
राज्य सरकार के प्रवक्ता ने उक्त जानकारी देते हुये आज यहां बताया है कि शासन ने 1090 के प्रभारी कुंवर राघवेन्द्र प्रताप सिंह को वुमेन पावर लाइन से तात्कालिक प्रभाव से हटाते हुये उनके मूल विभाग रेडियो मुख्यालय वापस भेजने के निर्देश दिये है।
उल्लेखनीय है कि मीडिया में 1090 के प्रभारी पर एक छात्रा द्वारा लगाये गये आरोपो से  संबंधित समाचार के प्रकाशन के बाद राज्य सरकार द्वारा उक्त कड़ी कार्यवाही की गयी है। इस प्रकरण में प्रथम दृष्टया मिली जानकारी के अनुसार 1090 के प्रभारी द्वारा अपने निजी नम्बर का प्रयोग व्हाट्स एप पर चैट करने के लिये किया गया। पुलिस महानिरीक्षक, वुमेन पावर लाइन श्री नवनीत सिकेरा को इस पूरे मामले की जांच कर शासन को रिपोर्ट सौंपने के भी निर्देश दिये गये है।
राज्य सरकार के प्रवक्ता ने वुमेन पावर लाइन की कार्यप्रणाली की जानकारी देते हुये बताया कि वहां से किसी भी पीड़िता या आरोपी से तैनात कर्मी कभी भी अपने व्यक्तिगत नम्बरो से कॉल नहीं कर सकते है क्योंकि 1090 एक सरकारी व्यवस्था है। प्रवक्ता ने बताया कि 1090 पर की गयी कॉल अथवा वहां से दिये जाने वाले उत्तर आदि सभी कॉलो की रिकार्डिंग होती है, क्योंकि वहां से की जाने वाली सारी बातचीत सरकारी होती है और वह किसी भी प्रकार से निजी नहीं होती है।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.