Header Ads

रेल पुलों के निर्माण के लिए,मुख्यमंत्री ने लिखा रेल मंत्री को पत्र

लखनऊ-
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने केन्द्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु को पत्र लिखकर राज्य के लंबित रेल ब्रीजों के निर्मामकार्य शीघ्र पूरा करने का अनुरोध किया है। मुख्यमंत्री ने चिंता जताई है कि रेलवे के मुख्य सेतुओं के कार्य की प्रगति की रफ्तार अत्यंत धीमी है।  मुख्यमंत्री ने 11 मई, 2015 के पत्र का हवाला देते हुए लिखा है कि वित्तीय वर्ष 2015-16 में पूरा कराने के लिए लक्षित समय के अनुरूप महत्वपूर्ण रेल उपरिगामी सेतु परियोजनाओं की कार्य की प्रगति अत्यन्त धीमी है। कुछ कार्यस्थलों पर रेलवे द्वारा हाईटेन्शन लाइन शिफ्टिंग का कार्य अब तक पूरा नहीं किया गया है। मुख्यमंत्री के अनुसार उत्तर रेलवे के तहत जनपद लखनऊ में दिलकुशा-बाराबंकी प्रखण्ड के किमी 1090/27-1090/32 के मध्य रेल अधोगामी सेतु, जनपद बिजनौर में सम्पार संख्या 480-बी नजीबाबाद-रायपुर मार्ग व सम्पार संख्या 481-बी नजीबाबाद-जोगिरनपुरी-रायपुर मार्ग, जनपद हरदोई में सम्पार संख्या 280-बी हरदोई-पिहानी मार्ग, उत्तर मध्य रेलवे के तहत जनपद अलीगढ़ में सम्पार संख्या 115-सी टूण्डला-गाजियाबाद व सम्पार संख्या 119-बी गाजियाबाद-कानपुर रेल सेक्शन, जनपद इटावा में सम्पार संख्या 20 एवं 21 के मध्य कानपुर टूण्डला रेल खण्ड के कि0मी0 1137/11-13 व सम्पार संख्या-35 जसवन्तनगर-कचैरा घाट, जनपद हाथरस में सम्पार संख्या 100-सी गाजियाबाद-रेल सेक्शन के सासनी अकराबाद मार्ग तथा उत्तर मध्य रेलवे के तहत संत कबीर नगर में खलीलाबाद-गोरखपुर सेक्शन के तहत 178 स्पेशल/ए, रेल उपरिगामी सेतुओं को इस वित्तीय वर्ष में पूरा किया जाना संभव नहीं हो पा रहा है। इसके अलावा  मुख्यमंत्री ने रेल मंत्री से उत्तर मध्य रेलवे के तहत आगरा जनपद में यमुना एक्सप्रेस-वे एवं इनर रिंग रोड को जोड़ते हुए टूण्डला-आगरा कैण्ट के सेक्शन किमी 1260/08-10 पर 8 लेन निर्माणाधीन आरओबी के लिए, रेलवे भूमि पर आरओबी के निर्माण हेतु अनापत्ति प्रमाण की अपेक्षा भी की है।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.