Header Ads

पीएम मोदी ने दी दिल्ली और मेरठ वासियों को नववर्ष पर 14 लेंन एक्सप्रेस् वे की सौगात

पीएम मोदी ने किया एक्सप्रेसवे का शिलान्यास
दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा, मेरठ के लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से नए। साल का बड़ा तोहफा मिला। पीएम मोदी ने 14 लेन के दिल्ली-डासना-मेरठ एक्सप्रेसवे का शिलान्यास किया।
इस एक्सप्रेसवे के बन जाने के बाद दिल्ली से मेरठ की ढाई घंटे की दूरी घटकर महज 40 मिनट हो जाएगी। इस परियोजना में तकरीबन ढाई साल का समय लगेगा। एक्सप्रेसवे की परियोजना का काम 4 चरणों में किया जाएगा।
पीएम मोदी से पहले केंद्रीय सड़क एंव परिवहन मंत्री ने सभा को संबोधित करते हुए दिल्ली-एनसीआर के लोगों को बड़ी सौगात दी।
नोएडा सेक्टर 62 सभास्थल पहुंचे पीएम मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का शिलान्यास करने पहली बार नोएडा पहुंचे हैं। सभा स्थल पर पीएम के साथ उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक और केंद्रीय राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ और सड़क व परिवहन मंत्री नीतिन गड़करी भी मौजूद हैं।
पीएम की अगवानी के लिए केंद्रीय संस्कृति राज्य मंत्री और नोएडा से सांसद महेश शर्मा, केंद्रीय मंत्री वीके सिंह और हर्षवर्धन सिंह पहले ही सभा स्थल पहुंच चुके थे।
सभा को सबसे पहले नीतिन गड़करी ने संबोधित किया। गड़करी ने कहा कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के बन जाने से आम जनता को बड़ा फायदा होने जा रहा है। गडकरी ने अपने भाषण में कई घोषणाएं की।
-मेरठ से दिल्ली आने वालों को रोज दो घंटे आने और दो घंटे जाने में बेकार होता है।
-दिल्ली मेरठ की दूरी अब 40 से 45 मिनट में होगी पूरी पहले दो से तीन घंटे में पूरा होता था सफर।
-दिल्ली से नगर देहरादून का सफर तीन घंटे में होगा।
-दिल्ली से डासना एक्सप्रेसवे को लखनऊ तक ले जाने की योजना है।
-दिल्ली से बद्रीनाथ केदारनाथ गंगोत्री यमुनोत्री के लिए 1000 किलोमीटर की नई सड़क बनाने की योजना पर काम शुरु बुद्घा सर्किट का शुभारंभ जल्द किया जाएगा।
-दिल्ली में ट्रैफिक जाम में सुधार के लिए एनएच 8 व 24 को 14 लेन की किया जाएगा।
-धौला कुंआ से मानेसर के लिए मार्च में शुरु किया जाएगा।
-नवंबर 16 किमी प्रतिदिन मार्च तक 30 किलोमीटर का उद्देश्य रखा है।
-यूपी में 45 हजार करोड़ की सड़क परियोजनाएं चल रही हैं जल्द ही इसे एक लाख करोड़ तक ले जाएंगे।
नितिन गडकरी और राम नाईक होंगे साथ
कार्यक्रम में केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के अलावा उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक के अलावा अन्य केंद्रीय मंत्री उपस्थित रहेंगे। वहीं, प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर सुरक्षा एजेंसियों ने देर रात जनसभा स्थल को कब्जे में ले लिया।
इससे पहले एसपीजी ने बुधवार को हैलीपैड से लेकर सभा स्थल तक सघन जांच पड़ताल की। जिस रास्ते से प्रधानमंत्री का काफिला वाहनों से जाएगा, उस रास्ते पर रिहर्सल भी की गई। सुरक्षा के मद्देनजर देर रात जिला प्रशासन, एसपीजी और अन्य सुरक्षा एजेंसियों ने बैठक भी की गई।
जनसभा के लिए करीब 5 हजार सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गई है। कार्यक्रम स्थल पर मिनी पीएमओ हाउस की भी व्यवस्था की गई है, ताकि सभी जरूरी कार्य किए जा सकें।
पीएम की सुरक्षा को लेकर वैकल्पिक रूट भी तैयार
जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा को लेकर पुलिस प्रशासन ने एक वैकल्पिक रूट भी तैयार किया गया है। हालांकि इस रूट का खुलासा नहीं किया गया।
इस बाबत अधिकारियों का कहना है कि किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए एक वैकल्पिक रूट तैयार किया गया है। इस रूट का उपयोग तब किया जाएगा, जब पहले के प्लान में संशोधन करना पड़े। इस रूट का तब उपयोग हो सकता है, जब किसी वजह से पीएम हैलीकॉप्टर से न आकर सड़क मार्ग से आएं।
हालांकि अधिकारियों का कहना है कि इस प्लान का उपयोग करने की संभावना न के बराबर है। चूंकि हैलीपैड को पहले से ही अप्रूवल मिल चुका है। वहां किसी भी तरह की दिक्कत नहीं होगी।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
Powered by Blogger.